Home » Tag Archives: Between-the-lines

Tag Archives: Between-the-lines

सवाल उठाने वाली कविता श्रेष्ठ होती है – प्रो. चित्तरंजन मिश्र

Prof. Chitranjan Mishra

The poem that raises the question is the best – Prof. Chittaranjan Mishra अलवर, राजस्थान। रविवार, 02 अगस्त, 2020 को नोबल्स स्नातकोत्तर महाविद्यालय, रामगढ़, अलवर (राज ऋषि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय, अलवर से संबद्ध) एवं भर्तृहरि टाइम्स पाक्षिक समाचार पत्र, अलवर के संयुक्त तत्त्वावधान में एक दिवसीय राष्ट्रीय स्वरचित काव्यपाठ/मूल्यांकन ई-संगोष्ठी-5 का आयोजन किया गया; जिसका विषय ‘स्वेच्छानुसार’ था। इस ई-संगोष्ठी …

Read More »