क्या भारत को 2030 की माँग को पूरा करने के लिए नई कोयला खदानों की वास्तव में आवश्यकता है?

Coal

Does India really need new coal mines to meet the 2030 demand? – पहले से आवंटित कोयला ब्लॉकों की न्यूनतम क्षमता 2030 में अपेक्षित मांग की तुलना में लगभग 15 से 20% अधिक है – आवश्यकता से ज़्यादा कोयला उत्पादन बढ़ाने से अधिक आपूर्ति के कारण वित्तीय तनाव पैदा होगा और फंसी हुई संपत्ति में

कोयला उद्योग का निजीकरण : इंदिरा गाँधी ने जो शंका व्यक्त की थी, मोदी उसे सच साबित कर रहे हैं

narendra modi flute

कोयला उद्योग – राष्ट्रीयकरण से निजीकरण की ओर….??? कॉमर्शियल माइनिंग के विरोध में तीन दिवसीय हड़ताल जिस समय देश आज़ाद हुआ हमारा कोयला उद्योग (Coal industry) निजी मालिकों के हाथों में था और कोयला मजदूरों की स्थिति (Status of coal laborers) जानवरों से भी बदतर थी जिसका भली-भांति चित्रण शत्रुघ्न सिंहा की फ़िल्म “कालिका“ में