कोविड -19 और नैदानिक चिकित्सा का अंत, जैसा कि हम जानते हैं : ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में प्रोफेसर का लेख

COVID-19 news & analysis

(कार्ल हेनेगन ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में साक्ष्य-आधारित दवा के प्रोफेसर हैं और सेंटर फॉर एविडेंस-बेस्ड मेडिसिन के निदेशक हैं। टॉम जेफरसन सेंटर फॉर एविडेंस-बेस्ड मेडिसिन के एक वरिष्ठ सहयोगी ट्यूटर और मानद अनुसंधान सदस्य हैं।)

नेट जीरो होने की प्रतिबद्धता सूची साल भीतर हुई दोगुनी

Environment and climate change

रेस टू जीरो अभियान, 2040-50 के दशक में शून्य उत्सर्जन के लिए प्रतिबद्ध स्थानीय सरकारों, व्यवसायों, निवेशकों और अन्य लोगों का सबसे बड़ा गठबंधन है। अब इसमें 22 भौगोलिक क्षेत्र, 452 शहर, 1,128 व्यवसाय, 549 विश्वविद्यालय और 45 बड़े निवेशक और उद्योगपति शामिल हैं।

ट्रम्प के फैसलों के बावजूद अमेरिका बढ़ रहा है शून्य उत्सर्जन की ओर

Donald Trump

Despite Trump’s decisions, America is moving towards zero emissions : Americas Pledge On Climate Report पिछले 4 वर्षों के दौरान डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के पर्यावरण संबंधी कई समझौतों से अलग होने के बावजूद अमेरिका इससे होने वाले नुकसान की सफलतापूर्वक भरपाई करने में कामयाब रहा है। ऐसा होने से अमेरिका के लिए वर्ष 2050 तक

यह गांधी के रामराज्य की नहीं, शंबूक वध और सीता वनवास वाले रामराज्य की तैयारी है

PM Modi Speech On Coronavirus

वंचितों को बाहर कैसे करते हैं? मोदी राज के छ: साल में आंकड़ों की विश्वसनीयता का जैसा ध्वंस हुआ है, उसकी तुलना आजादी की लड़ाई में से निकले, शासन के धर्मनिरपेक्ष, जनतांत्रिक स्वरूप के ध्वंस से ही की जा सकती है। फिर भी आंकड़ों की विश्वसनीयता (Data reliability) के इन प्रश्नों को अगर उठाकर भी

कोविड-19 : सांख्यिकी, विज्ञान और वैज्ञानिक चेतना

Novel Coronavirus SARS-CoV-2 Colorized scanning electron micrograph of a cell showing morphological signs of apoptosis, infected with SARS-COV-2 virus particles (green), isolated from a patient sample. Image captured at the NIAID Integrated Research Facility (IRF) in Fort Detrick, Maryland.

प्रमोद रंजन कोविड के भय के अतिरेक ने अब तक एक ख़ास दिशा में विकसित हो रही मानव-सभ्यता और संस्कृति को एक गहरे संकट में धकेल दिया है। जिस दिशा में मानव जाति जा रही थी, उसकी अपनी कमियाँ थीं, लेकिन इस नये संकट ने इन प्रश्नों पर शीघ्र विचार करना आवश्यक बना दिया है

अनचाहे गर्भ का खतरा कम करता है आपातकालीन गर्भनिरोधक

emergency contraception hindi

Emergency contraception reduces the risk of unwanted pregnancy आज के आधुनिक युग में भी परिवार नियोजन और सुरक्षित यौन संबंध (Family planning and safe sex) की ज़िम्मेदारी महिलाओं पर ही अधिक है। इसके बावजूद भारत समेत एशिया-पैसिफिक क्षेत्र के कुछ अन्य देशों की अनेक महिलाओं को, आधुनिक गर्भ निरोधक साधन (Modern contraceptive devices) मिल ही

वर्ल्ड फिजियोथेरेपी डे : कोविड-19 से प्रभावित लोगों के उपचार और प्रबंधन में फिजियोथेरेपिस्ट की भूमिका अहम

World Physiotherapy Day

8 सितम्बर विश्व में वर्ल्ड फिजियोथेरेपी डे के रूप में जाना जाता है 8 September is known as World Physiotherapy Day in the world. COVID -19 से प्रभावित लोगों के उपचार और प्रबंधन में फिजियोथेरेपिस्ट की भूमिका अहम : डॉ पी एन अरोड़ा  Role of physiotherapists in treatment and management of people affected by COVID-19:

लंदन से रोम की दूरी के बराबर बनेगी साइकिल लेन : पहला अंतर्राष्ट्रीय क्लीन एयर डे आज 7 सितंबर को

Environment and climate change

 Cycle lane to be equal to distance from London to Rome: First International Clean Air Day (International day of clean air for blue sky) today on 7 September नई दिल्ली, 07 सितंबर 2020. कोविड-19 (COVID-19) ने दुनिया को वायु प्रदूषण (air pollution) कम करने के लिए एकदम से जागरूक बना दिया है और लोगों का

कोविड-19 : कथित कांस्पीरेसी थ्योरी किसके खिलाफ है?

Demonstrations in Germany protesting against restrictions imposed in COVID's name

समाज कर्मी मेधा पाटकर ने पिछले दिनों जर्मनी में  कोविड के नाम पर लगाए गए प्रतिबंधों के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों (Demonstrations in Germany protesting against restrictions imposed in COVID‘s name) को ‘प्रेरणादायक खबर’ (inspirational news) बताया, जिस पर राजनीति-शास्त्री जानकी श्रीनिवासन (Political scientist Janaki Srinivasan) ने उन्हें याद दिलाया कि “यह प्रदर्शन  दक्षिणपंथियों द्वारा

बेहाल उप्र : बिना इलाज मिले तड़प-तड़प कर मर गई आंगनबाड़ी, वर्कर्स फ्रंट ने मांगा 50 लाख मुआवजा

दिनकर कपूर Dinkar Kapoor अध्यक्ष, वर्कर्स फ्रंट

Anganwadi died after suffering without getting treatment, Workers Front asked for 50 lakh compensation लखनऊ, 30 अगस्त 2020. कोविड-19 के कार्य के कारण सहारनपुर की आंगनबाड़ी प्रवेश धवन की मृत्यु पर 50 लाख रुपए मुआवजा की मांग करते हुए वर्कर्स फ्रंट ने मुख्यमंत्री, प्रमुख सचिव, निदेशक व जिलाधिकारी, सहारनपुर को पत्र भेजा है। पत्र का