बेचैन दुनिया को नई संस्कृति, नए विचार देने वाले डॉक्टर लोहिया आज भी प्रासंगिक

Dr. Ram Manohar Lohia

गांधी के बाद डॉक्टर लोहिया ही ऐसे चिंतक विचारक हुए हैं जो भारत की धरती से जुड़े हुए हैं. द्रौपदी को आदर्श बताने वाले डॉ लोहिया ‘ईश्वर’ और ‘औरत’ को जीवन में सबसे महत्वपूर्ण मानते थे।

जब डॉ. लोहिया को “बनिया” कहकर अपनी कुर्सी खोई थी चौधरी साहब ने और मुलायम सिंह ने निकाला था उनके खिलाफ जुलूस

Dr. Ram Manohar Lohia Chaudhary Charan Singh

आजकल के नवसमाजवादी पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह (Chaudhary Charan Singh) को समाजवाद का अग्रदूत बताते नहीं थकते हैं, लेकिन तथ्य यह है कि चौधरी साहब किसी भी दृष्टि से समाजवादी नहीं थे, हां इतना जरूर है कि डॉ. लोहिया के गैर कांग्रेसवाद (Non-Congressism of Dr. Lohia) के प्रथम लाभार्थी जरूर थे और यदि यह