Home » Tag Archives: Fahmida Riyaz’s Multi-quoted poem “Tum bilkul hum jaise nikle”

Tag Archives: Fahmida Riyaz’s Multi-quoted poem “Tum bilkul hum jaise nikle”

मोशा ने सावरकर-जिन्ना को जिता दिया गांधी हार गए

Amit Shah Narendtra Modi

क्या यह गांधी की हार और सावरकर-जिन्ना की जीत है? Is it the defeat of Gandhi and the victory of Savarkar-Jinnah? लोकसभा के नागरिकता संशोधन विधेयक पर मोहर लगाने पर प्रधानमंत्री के ‘खुशी’ जताने (Expressing ‘happiness’ of Prime Minister on passage of Citizenship Amendment Bill in Lok Sabha) पर बरबस, पाकिस्तानी कवियित्री फहमिदा रियाज की बहु-उद्धृत नज्म ‘‘तुम बिल्कुल हम …

Read More »