कॉर्पोरेट के खिलाफ किसानों का पहला आंदोलन, किसान समझ गया सरकार की पूंजीपतियों के साथ गिरोहबंदी

Bharat Bandh Farmers on the streets throughout Chhattisgarh

The first agitation of the farmers against the corporate, the peasants understood the government’s gangbing with the capitalists तेरे वादे पर जिये हम…. किसानों से सरकार के वादे | Government promises to farmers किसान कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन (Movement of farmers against farmer laws) दिन प्रति दिन तेज होता जा रहा है। यह

किसानों की एक इंच जमीन भी सरकार को नहीं देने देंगे : किसान सभा

Kisan Sabha Barabanki

मोदी सरकार से किसानों का भला नहीं – राजेन्द्र यादव Farmers will not allow even one inch of land to Government: Kisan Sabha बाराबंकी, 10 अक्तूबर 2020. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यालय का उद्घाटन आल इण्डिया किसान सभा के प्रदेश महासचिव राजेन्द्र यादव पूर्व विधायक ने किया. इस अवसर पर मुखबिर राज और आजादी के

किसान विरोधी कृषि कानूनों के विरुद्ध किसानों के भारत बंद का लोकमोर्चा ने किया समर्थन

Ajit Yadav, अजीत सिंह यादव

मोदी सरकार के तीनों कृषि कानून किसानों की गुलामी के दस्तावेज हैं। इन कानूनों के जरिये मोदी सरकार ने एक बार फिर देश के फेडरल ढांचे पर बड़ा हमला बोला है।