संवेदनहीनता से जूझता मेरा भारत : राहुल गांधी तो 31 जनवरी से सचेत करते आ रहे हैं, न जनता ने सुनी न सरकार ने अब थाली पीट रहे

Rahul Gandhi at Bharat Bachao Rally

किसी भी कार्य में अनुशासन व दूरदर्शिता होनी चाहिये। धर्मभीरुता व अंधविश्वास हमारी सोच को संकुचित करता है। धर्म गलत करने से रोकता है पर पाखंड गलत करने को ही प्रेरित करता है। करीब 31 जनवरी से ही राहुल गांधी बोलते आ रहे हैं ट्वीट पर ट्वीट किए जा रहे हैं, कोरोना वायरस की भयानकता