अशफ़ाक़ुल्लाह खान के ज़िक्र के बिना अधूरी है राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ की कहानी

Ram Prasad Bismiil

राम प्रसाद ‘बिस्मिल‘ की जयंती 11 जून पर विशेष | special on Ram Prasad ‘Bismil’ birth anniversary June 11 आधुनिक भारत के निर्माता : राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ “सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल मे है, देखना है ज़ोर कितना बाज़ु-ए-क़ातिल में है”” भारत की आज़ादी के आंदोलन में ये पंक्तियां क्रांतिकारियों का मशहूर नारा बनीं। 1921