1982 गोंडा एनकाउंटर की पटकथा से मिलती है बिकरु, कानपुर की कहानी, वहां भी गई थी सीओ की जान और यहां भी : रिहाई मंच

Police

विकास दुबे मुठभेड़ कांड की सच्चाई छुपी नहीं फिर भी हमारे कुछ सवाल- रिहाई मंच लखनऊ, 11 जुलाई 2020. रिहाई मंच ने कहा कि पहले पुलिस कर्मियों की जानें गईं और अब उनको मारने के आरोप में ताबड़तोड़ एनकाउंटर का दावा. विकास मुठभेड़ कांड की सच्चाई छुपी नहीं है, देश में संविधान-कानून को मानते हुए