पांच लोगों में केवल 1.5 किलो चावल और एक पाव दाल, गरीबी का इससे बड़ा मजाक और क्या हो सकता है

Five people have only 1.5 kg of rice and a loaf of pulses, what could be a bigger joke of poverty

Five people have only 1.5 kg of rice and a loaf of pulses, what could be a bigger joke of poverty भले ही कोरोना कहर के कारण आज पूरा देश लॉकडाउन (Today, the entire country lockdown due to Corona havoc) का दंश झेल रहा है, लेकिन झारखंड अपने अलग राज्य गठन के 20 वर्षों के