मऊ में प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए दिन-रात सड़क पर तैनात सामाजिक कार्यकर्ता

Migrants On The Road

Social workers stationed on the road day and night to help migrant laborers in Mau मऊनाथ भंजन (उप्र), 22 मई 2020. भारत में तेजी से पांव पसार रहे कोरोना महामारी से बचने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने सम्पूर्ण देश मे लॉकडाउन घोषित किया हुआ है. हमारे भारत देश में 60% आबादी ऐसे तबके की पाई

सारा मलिक की कहानी – राशन कार्ड

Sara Malik, सारा मलिक, लेखिका स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं।

Story of Sarah Malik – Ration Card राशन कार्ड उर्मिला, अपना सामान बांध रही थी, उसे गांव जाना है, होली के 7 दिन बाद उसने कुछ दिन की छुट्टी ले रखी है. उर्मिला आसपास के घरों में काम करती है, और उसी कमाई से वह अपना घर चलाती है, और अपने तीन बच्चों के लिए

अथ लॉक डाउन कथा : दुखों का लॉकअप (हृदयविदारक कथा)

Migrants On The Road

Lock Down Story: Lockup of Sorrows (Heartbreak Story) (अपने गांव से 1200 किलोमीटर दूर गुजरात के एक गांव में फंसे रायबरेली के एक मजदूर के जीवन की सत्य घटना पर आधारित कहानी- ) Story based on the true incident of the life of a laborer of Rae Bareli stranded in a village in Gujarat, 1200

यह मनुष्यता की यात्रा है/ दो पैरों पर ही चलेगी/ ये हवाई जहाज से नहीं चलती/ ये सड़कों पर रेला बन कर बहेगी

Migrants On The Road

समय एक बहुत लम्बी सड़क है और वे चले जा रहे हैं जो बहुत हिम्मती हैं उन्होंने अपने बोरे सरों पर लाद लिए हैं जो बहुत मासूम बच्चे हैं वे पिताओं की उंगली थाम निकल पड़े हैं सैकड़ों किलोमीटर के सफर पर जो बहादुर स्त्रियाँ हैं वे बिना रुके चलती जा रही हैं हम समय

क्या सबसे मज़बूत सरकार मुसीबत के समय ऐसा ही व्यवहार करती पाई जाती है?

Migrants On The Road

Is the strongest government found to behave like this in times of trouble? हमारी और अपनी नियति को पहचानिए….! पीड़ित मानवता की सेवा में जो सरकार कंजूसी पर उतर आए वो कैसी सरकार है? वह अपनों को ही मौत बांटना चाहती है। अभी चंद हफ्तों पहले तक जो स्वघोषित राष्ट्रभक्त लोग पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश के