70 साल में सर्वाधिक परनिर्भर सरकार : विफल लॉकडाउन के बाद विषयांतर की तलाश में मोदी सरकार

narendra modi flute

Modi government in search of digression after failed lockdown क्या इसे महज एक संयोग माना जा सकता है? देशव्यापी लॉकडाउन (Nationwide lockdown) के 79वें दिन (जिसमें ओपनिंग अप के 11 दिन भी शामिल हैं), केंद्र सरकार के कैबिनेट सचिव (Cabinet Secretary to the Central Government), पांच सबसे ज्यादा कोविड-19 प्रभावित राज्यों (The five most affected

कोविड 19 की आड़ में मोदी सरकार ने किया पर्यावरण का विनाश

#CoronavirusLockdown, #21daylockdown , coronavirus lockdown, coronavirus lockdown india news, coronavirus lockdown india news in Hindi, #कोरोनोवायरसलॉकडाउन, # 21दिनलॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार हिंदी में, भारत समाचार हिंदी में,

Modi government did destruction of environment under the cover of COVID-19 देशव्यापी लॉकडाउन (Nationwide lockdown) के दौर में भी केंद्र सरकार के किसी एक मंत्रालय ने अपना नियमित से भी अधिक काम किया है, तो वह है पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय (Ministry of Environment, Forest and Climate Change). सामान्य दिनों से अधिक काम

इस मजदूर दिवस पर जानें झारखंड के एक ‘प्रतिबंधित’ मजदूर यूनियन के बारे में

कामरेड सत्यनारायण भट्टाचार्य उर्फ सत्तो दा, Comrade Satyanarayan Bhattacharya alias Satto da

Learn about a ‘banned’ labor union of Jharkhand on this Labor Day Capitalism is moving towards its destruction all over the world अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस (International Labor Day) हमें प्रत्येक वर्ष याद दिलाता है कि किस तरह से मजदूरों ने अपने अधिकारों को पाने के लिए संघर्ष किया और अपने प्राणों तक की आहुति दी।

कोरोना के कहर के बीच : तब्लीगी जमात से सिर पर ठीकरा फोड़ने की कवायद

डॉ. राम पुनियानी (Dr. Ram Puniyani) लेखक आईआईटी, मुंबई में पढ़ाते थे और सन्  2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं

ARTICLE IN HINDI BY DR RAM PUNIYANI – CORONA AND Tablighi Jamaat   इस समय भारत पूरी तरह से बंद है. सरकार, जनता और सामाजिक व अन्य संगठन, कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए भरसक प्रयास कर रहे हैं. देश में अब तक लगभग 7,500 लोग इस जानलेवा बीमारी से ग्रस्त हो चुके हैं