शरणार्थी कैम्प में हम लाशों के बीच जिन्दा भूत बन गए थे : 88 साल के विजय सरकार की आपबीती

Interview- Vijay Sarkar, A partition victim's tragedy

साक्षात्कार- विजय सरकार | एक विभाजन पीड़ित की आपबीती | Interview- Vijay Sarkar | A partition victim’s tragedy in Hindi ‘‘रोटी क्या होती है? आटा किसे कहते हैं? कैसा होता है आटा? रोटी बनती कैसे है? आटा गूँथना तक नहीं आता था, हम लोगों को। 1947 के विभाजन के बाद अस्थाई कैम्पों में रहते हुए रोटी का