Parliament

अगर भारत का कोई ट्रम्प, जबर्दस्ती जीत का सेहरा अपने सिर बांधने पर तुल जाए, तो उसे कौन और कैसे रोकेगा?

इस नुक्ते को मोदी के न्यू इंडिया के उदाहरण से आसानी से समझा जा सकता… Read More

सभ्यता के इतिहास के पैमानों पर भारत का किसान संघर्ष

पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र के किसानों ने पूंजीपतियों के दलाल के रूप में… Read More

पीएम मोदी भाजपा के गोर्बाचोव हैं! लोकतंत्र स्थगित हो गया है

पीएम -गृहमंत्री गलत भाषा बोल रहे हैं। यह भाषा संविधान का अपमान है। प्रधानमंत्री के… Read More

तीन नए कृषि कानूनों के बारे में जानिए सब कुछ, कैसे ये देश के लिए हानिकारक हैं

हम नवउदारवाद के दौर में अपनी ही चुनी गई सरकारों द्वारा अपने ही देश के… Read More

मोदी ने बताया खराब क्वालिटी के बावजूद 13 सालों में पंजाब ने नहीं मप्र ने खरीदा सबसे ज्यादा गेहूँ, क्यों ?

खराब क्वालिटी के बावजूद केंद्र सरकार ने मप्र को 80% तक कमजोर गेहूं खरीदने की… Read More

मोदी के संसदीय क्षेत्र में कोतवाली में गूंजा किसान आंदोलन का नारा

आज भारत बंद है ... अरविंद सिंह, कुंवर सुरेश सिंह, डॉ मोहम्मद आरिफ, हीरालाल यादव… Read More

गाय के पहले दुःखी इंसान की सहायता करनी चाहिए : स्वामी विवेकानंद

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने गायों के चतुर्दिक कल्याण के लिए एक… Read More

पूछता है भारत : क्या आप अपनी संतान को गोडसे बनाना चाहेंगे ?

संघ को रोल मॉडल की तलाश है। वह भगत सिंह, सरदार पटेल से लेकर सुभाष… Read More

कानून – जानिए बलात्कार की धारा 375 आईपीसी

दिसंबर 2012 में दिल्ली में हुए बलात्कार तथा हत्या के मामले के बाद देश में… Read More

अब इस किसान असंतोष को सरकार नजरअंदाज करने की स्थिति में नहीं है

सरकार उद्योग की कीमत पर कृषि को जिस दिन से नज़रअंदाज़ करने लगेगी, उसी दिन… Read More

किसी की आपदा, किसी का अवसर! मेहनत-मजदूरी करने वालों की आपदा को कार्पोरेटों के लिए अवसर बनाने की धोखाधड़ी नहीं चलेगी

महामारी के बीचो-बीच और वास्तव में देशव्यापी लॉकडाउन के बीच (Amidst nationwide lockdown), प्रधानमंत्री नरेंद्र… Read More

युवा संसद कर उठाई मांग रोजगार बने मौलिक अधिकार

संसद के मानसून सत्र के पहले दिन आयोजित हुए प्रतिवाद कार्यक्रम इलाहाबाद में बालसन चौराहे… Read More

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations