एनआरसी भारत विभाजन से अधिक त्रासद परिणामों वाला फैसला होगा।

NRC par ghiri BJP BJP in crisis over NRC

NRC will be a decision with more tragic consequences than partition of India. एनआरसी भारत विभाजन से अधिक त्रासद परिणामों वाला फैसला होगा। एनआरसी (NRC) की कवायद मुसलमानों से द्वेष (Malice to Muslims) के नाम पर शुरू होकर सभी धर्मों के करोड़ों भारतीयों को उसी तरह घायल कर गुजरेगी जैसे कालेधन के नाम पर नोटबन्दी

मोटा भाई, जब धर्म के आधार पर भारत विभाजन हो रहा था, तब हिन्दू महासभा और संघ कहां थे ?

Amit Shah at Kolkata

संसद में अमित शाह ने कांग्रेस को धर्म के आधार पर भारत के विभाजन का दोषी (guilty of partition of India on the basis of religion) बताया। संघ की स्थापना 1925 में (RSS established in 1925) और हिन्दू महासभा की 1905 में हुई (Hindu Mahasabha was established in 1905) । भारत का विभाजन 1947 में