ट्रेन से कुचल गए 14 : महामारी के पर्दे में ग़ुलाम बनाये जाने के खिलाफ लड़ते हुए मारे गये

Ghar Se Door Bharat Ka Majdoor

8 मई को 14 प्रवासी कामगार ट्रेन से कुचल गए | 14 migrant workers crushed by train on 8 May प्रवासी मजबूर महामारी के पर्दे में ग़ुलाम बनाये जाने के खिलाफ लड़ते हुए मारे गये वे थकावट से मर गए, अपने घरों में वापस चले गए, तयशुदा भूख से दूर, यह जानते हुए कि उन्हें कोई