बेबाक और बेखौफ शायर थे राहत इन्दौरी

Rahat Indori

राहत इन्दौरी को श्रद्धांजलि | Tribute to Rahat Indori खामोश हो गई मुशायरों में गूंजने वाली दमदार आवाज कोरोना संक्रमित होने के अगले ही दिन देश के प्रख्यात शायर राहत इन्दौरी 70 साल की आयु में दुनिया छोड़कर चले गए और मुशायरों में गूंजने वाली दमदार आवाज हमेशा के लिए खामोश हो गई। तबीयत बिगड़ने

राहत इन्दौरी की गज़लें फिसलती नहीं थीं अपितु कील की तरह ठुकती थीं

Rahat Indori

राहत इन्दौरी और उनकी शायरी की लोकप्रियता | Popularity of Rahat Indori and his poetry राहत इन्दौरी के निधन (Death of Rahat Indori) के बाद उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ उनकी शायरी को याद करने वालों की बाढ सी आ गयी। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि उनके शे’रों ने हर एक को गुदगुदाया था और