वैज्ञानिक क्यों कर रहे हैं घातक कोरोना वायरस का कल्चर!

Novel Coronavirus SARS-CoV-2 Credit NIAID NIH

Why scientists are doing the culture of deadly corona virus! नई दिल्ली, 29 मई (उमाशंकर मिश्र ): नोवेल कोरोना वायरस (SARS-CoV-2) से दुनिया भर में अब तक 56 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं और 3.62 लाख से अधिक लोगों को इस वायरस से उपजी बीमारी कोविड-19 के प्रकोप से अपनी जान गंवानी

कोरोना वायरस के खिलाफ मोनोक्लोनल एंटीबॉडी विकसित करने के लिए नयी परियोजना

Novel Coronavirus SARS-CoV-2 Colorized scanning electron micrograph of a cell showing morphological signs of apoptosis, infected with SARS-COV-2 virus particles (green), isolated from a patient sample. Image captured at the NIAID Integrated Research Facility (IRF) in Fort Detrick, Maryland.

New project to develop human monoclonal antibodies for neutralizing SARS-CoV-2 नई दिल्ली, 10 मई (उमाशंकर मिश्र): काउंसिल ऑफ साइंटिफिक ऐंड इंडस्ट्रियल रिसर्च (सीएसआईआर) – Council of Scientific and Industrial Research (CSIR) ने अपने न्यू मिलेनियम इंडियन टेक्नोलॉजी लीडरशिप इनिशिएटिव (एनएमआईटीएलआई) कार्यक्रम (New Millennium Indian Technology Leadership Initiative) के तहत मानव मोनोक्लोनल एंटीबॉडी के विकास की

कोरोना वायरस के बारे में कितना जानते हैं आप और क्या जानना है जरूरी!  जानिए वरिष्ठ वैज्ञानिक से

Corona virus COVID19, Corona virus COVID19 image

What do we know and what do we need to know about Novel Coronavirus नई दिल्ली, 27 मार्च (डॉ टीवी वेंकटेश्वरन) : नोवेल कोरोना वायरस के बारे में कई तरह की बातें सोशल मीडिया, वाट्सऐप और इंटरनेट के माध्यम से फैल रही हैं। इनमें से कुछ सही हैं, तो बहुत-सी बातें बिल्कुल निराधार हैं। ऐसे