कहीं भाजपा को उल्टा तो नहीं पड़ेगा सुशांत सिंह का दांव? 

Sushant Singh Rajput

Sushant Singh Rajput’s suicide आज की राजनीति (Today’s politics) इतनी अमानवीय है कि अपनी राजनीतिक महात्वाकांक्षाओं के लिए किसी को भी बलिवेदी पर चढा सकती है। इस दौर का गिरोह झूठ को सच और सच को झूठ बनाने व उसे प्रचारित करने के लिए पूरा तंत्र सुसज्जित कर के पहले भक्तों को और फिर देश

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या और उससे उठे सवाल : हम कितने दोगले समाज को ढो रहे हैं

Sushant Singh Rajput

Sushant Singh Rajput’s suicide and questions raised बॉलीवुड के एक लोकप्रिय फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Film actor Sushant Singh Rajput), जिन्होंने पिछले दिनों अनेक सफल फिल्में की थीं, ने अचानक आत्महत्या कर ली, और पीछे कोई सुसाइड नोट भी नहीं छोड़ा। इस घटना को लेकर लगातार अनेक तरह की कहानियां चर्चा में रहीं। ये

सम्वाद तो असमानता और अन्याय के पूरे तन्त्र के खिलाफ होना चाहिए

Sushant Singh Rajput

Unemployment and hunger in the Corona era, suicides at the Quarantine Center are no less tragic. सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या बेहद दुखद है। कोरोना काल में बेरोज़गारी और भूख से, क्वारंटाइन सेंटर में हो रही आत्महत्याएं भी कम दुःखद नहीं हैं। माननीय प्रधानमंत्री ने सुशांत की आत्महत्या पर ट्विटर पर शोक जताया है (Prime

मानसिक स्वास्थ्य का मुद्दा है सुशान्त सिंह राजपूत का जाना

Sushant Singh Rajput

Sushant Singh Rajput’s suicide is a mental health issue The issue of mental health due to coronavirus has also emerged rapidly in the country. कोरोना वायरस के कारण मानसिक स्वास्थ्य का मुद्दा भी तेजी से देश में उभरकर आया है. लॉकडाउन ने लोगों की आदतें तो जरूर बदल दी हैं लेकिन एक बड़ा तबका तनाव