सांस्कृतिक सृजनकार काल की पुकार! – मंजुल भारद्वाज

Manjul Bhardwaj

12 अगस्त थिएटर ऑफ़ रेलेवंस सूत्रपात दिवस ! देश और दुनिया आज सांस्कृतिक रसातल में है. तकनीक के बल पर संचार माध्यम में सारा विश्व लाइव है त्रासद यह है की तकनीक लाइव है आदमी मरा हुआ है. मरी हुए दुनिया को तकनीकी संचार लाइव कर रहा है. कमाल का विकास है व्यक्ति,परिवार,समाज, देश और