कोविड-19 से बचाव के लिए वैक्सीन : क्या विज्ञान पर राजनैतिक हस्तक्षेप भारी पड़ रहा है?

Novel Coronavirus SARS-CoV-2 Credit NIAID NIH

Vaccine to Avoid COVID-19: Is Political Intervention Overcoming Science? भारत सरकार के भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसन्धान परिषद (Indian Council of Medical Research) (आईसीएमआर) ने 2 जुलाई 2020 को कहा था कि 15 अगस्त 2020 (स्वतंत्रता दिवस) तक कोरोना वायरस रोग (कोविड-19) से बचाव के लिए वैक्सीन के शोध को आरंभ और समाप्त कर, उसका “जन स्वास्थ्य

डब्ल्यूएचओ ने माना हवा से कोरोना वायरस फैलने का साक्ष्य सामने आ रहे

Novel Coronavirus SARS-CoV-2 Colorized scanning electron micrograph of a cell showing morphological signs of apoptosis, infected with SARS-COV-2 virus particles (green), isolated from a patient sample. Image captured at the NIAID Integrated Research Facility (IRF) in Fort Detrick, Maryland.

क्या हवा से फैल सकता है कोरोना ? Can corona spread by air? WHO believes corona virus can be spread by air नई दिल्ली, 08 जुलाई 2020. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने पहली बार हवा के जरिये कोरोना वायरस के फैलने की आशंका (Fears of corona virus spreading through the air) को स्वीकार करते हुए कहा

डब्ल्यूएचओ ने चेताया, कोविड-19 का सबसे बुरा दौर आना अभी बाकी है

World Health Organization WHO

WHO warns, worst round of COVID-19 is yet to come नई दिल्ली, 08 जुलाई 2020. विश्व स्वास्थ्य संगठन– World Health Organization (डब्ल्यूएचओ) ने चेतावनी दी है कि दुनिया भर में कोविड-19 संक्रमण का सबसे बुरा दौर (worst phase of COVID-19 infection,) आना बाकी है। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक डॉ. तेद्रोस गेब्रियेसस ने कहा है, “संक्रमण का

अमेरिका से सावधान ! कोरोना का एपिसेंटर बना अमेरिका, भारत के लिए सबक है कि अमेरिकी मॉडल

Namaste Trump

Beware of us! America becomes Corona’s epicenter, lesson for India that American model संयुक्त राज्य अमेरिका (United States of america) में 20 अप्रैल की दोपहर तक कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों की संख्या (Number of people suffering from corona virus in the United States) आठ लाख के पास पहुंच चुकी है और चालीस हजार से