Home » समाचार » देश » हापुड़ में मजदूरों की मौत प्रशासनिक मिली भगत का परिणाम – वर्कर्स फ्रंट
breaking news

हापुड़ में मजदूरों की मौत प्रशासनिक मिली भगत का परिणाम – वर्कर्स फ्रंट

The death of laborers in Hapur is the result of administrative collusion – Workers Front

हापुड़ हादसे की न्यायिक जांच की मांग

लखनऊ, 5 जून 2022, हापुड़ के धौलाना में अवैध रूप से चल रही पटाखा फैक्ट्री में कल हुई दर्जनभर मजदूरों की मौत पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए वर्कर्स फ्रंट ने इसकी न्यायिक जांच कराने, इस घटना के दोषियों को सजा देने और मृत मजदूरों को पचास लाख और घायलों को दस लाख मुआवजा देने की मांग की है।

वर्कर्स फ्रंट के अध्यक्ष दिनकर कपूर ने प्रेस को जारी अपने बयान में कहा कि यह कैसे सम्भव है कि पुलिस चौकी से महज 250 मीटर की दूरी पर संचालित हो रही थी अवैध पटाखा फैक्ट्री की प्रशासन को जानकारी न हो। ऐसे में इस घटना में प्रशासन की मिली भगत से इंकार नहीं किया जा सकता। इस घटना में इस बात की जांच होनी चाहिए कि किन अधिकारियों के आदेश से वहां फैक्ट्री संचालित की जा रही थी और जो भी दोषी हो उसे दण्ड़ित किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि दरअसल ऐसे खतरनाक कार्यस्थलों पर दुर्घटना रोकने के लिए जो नियम बनाए गए थे उन्हें योगी राज में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के नाम पर निष्प्रभावी बना दिया गया है, जिसने मजदूरों के जीवन को और असुरक्षित कर दिया है।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

Women's Health

बोटुलिनम टॉक्सिन एंडोमेट्रियोसिस का संभावित उपचार हो सकता है : शोध

एनआईएच वैज्ञानिकों (NIH scientists) ने एंडोमेट्रियोसिस से पीड़ित पुरानी पेल्विक दर्द वाली महिलाओं में ऐंठन …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.