बुनकर कार्ड और पासबुक पर भी सरकार दे राशन- मो क़ासिम अन्सारी सामाजिक कार्यकर्ता

लॉकडाउन की वजह से बुनकर समाज की स्थिति दयनीय

The situation of weaver society is pathetic due to lockdown

मऊ 22 अप्रैल 2020। सामाजिक कार्यकर्ता रिहाई मंच नेता मोहम्मद क़ासिम अन्सारी ने कहा कि बुनकर समाज काफी दयनीय स्थिति में जीवन यापन कर रहा है इसलिए उनके बुनकर कार्ड एवं पासबुक पर ही राशन की व्यवस्था की जाए।

  उन्होंने कहा कि बुनकर समाज पहले से ही काफी दयनीय स्थिति में जीवन जी रहा था। लॉक डाउन ने उनकी कमर पूरी तरह से तोड़ के रख दी है। सरकार को चाहिए कि बुनकर समाज का ख्याल रखे। जो समाज पूरी दुनिया के तन को ढकने का काम करता है वो आज भुखमरी का शिकार है। सरकार को चाहिए कि उनके लिए बुनकर कार्ड एवं पासबुक पर ही उनके लिए भी राशन की व्यवस्था की जाए।

अन्सारी ने कहा कि आज भी 70%  बुनकरों के पास राशन कार्ड नहीं है। जो काफ़ी दयनीय स्थिति में है। उनका ध्यान रखना केंद और प्रदेश सरकार की ज़िम्मेदारी है।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations