बैंक हड़ताल को ट्रेड यूनियन काउंसिल ने दिया समर्थन

बैंक हड़ताल को ट्रेड यूनियन काउंसिल ने दिया समर्थन

The trade union council supported the bank strike

रायगढ़, 13 दिसंबर 2021. सरकार द्वारा बैंकों के निजीकरण के लिए संसद में बैंकिंग लॉ अमेंडमेंट बिल (banking law amendment bill) लाया जा रहा है। इस बिल का कड़ा विरोध करते हुए यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (United Forum of Bank Unions) ने दिनांक 16 एवं 17 दिसंबर को राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है।

राष्ट्रीय ट्रेडयूनियनों, अर्थशास्त्रियों, समाजशास्त्रियों, प्रबुद्ध जनों एवं जनसंगठनों ने “बैंकिंग लॉ अमेंडमेंट बिल” को देश की अर्थव्यवस्था, बैंकिंग सिस्टम एवं आम जनता के हितों के खिलाफ बताते हुए इस पर पुनर्विचार करने की मांग की है।

उन्होंने इसे जन विरोधी और देश की अर्थव्यवस्था को कमजोर करने वाला बिल बतलाया है।

ट्रेड यूनियन कौंसिल रायगढ़ ने यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के दिनांक 16 एवं 17 दिसंबर को राष्ट्रव्यापी हड़ताल का पूर्ण समर्थन देते हुए केंद्र सरकार से मांग की है कि सरकार बैंकिंग लॉ अमेंडमेंट बिल पर पुनर्विचार कर देश की अर्थव्यवस्था को समृद्ध करने तथा जन हित में आवश्यक निर्णय ले।

ट्रेड यूनियन कौंसिल रायगढ़ के अध्यक्ष गणेश कछवाहा, उपाध्यक्ष शेख कलीमुल्लाह (अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ,जिला रायगढ़), सचिव -साथी श्याम जयसवाल मंडलीय उपाध्यक्ष, बिलासपुर डिविजन इंश्योरेंस एम्प्लॉयज एसोसियेशन, रायगढ़ सहसचिव – साथी अनिता नायक अध्यक्ष आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ जिला रायगढ़। साथी खगेश पटेल सचिव एम आर एसोसियेशन रायगढ़कोषाध्यक्ष – साथी सुनील मेघमाला ,बिलासपुर डिविजन इंश्योरेंस एम्प्लॉयज एसोसियेशन,रायगढ़ साथी रवि गुप्ता विष्णु यादव छत्तीसगढ़ लघु वेतन चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी संघ काजल विश्वास,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ जिला रायगढ़। सह कोषाध्यक्ष – साथी प्रवीण तंबोली,सचिव बिलासपुर डिविजन इंश्योरेंस एम्प्लॉयज एसोसियेशन,रायगढ़ , साथी एस बी सिंह अध्यक्ष साथी खगेश पटेल एमआर एसोसियेशन रायगढ़ साथी मोहम्मद शमीम, डी के सिह लोको रनिंग स्टाफ एसोसिएशन आदि संगठनों ने ट्रेड यूनियन कौंसिल रायगढ़ ने यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के दिनांक 16 एवं 17 दिसंबर को राष्ट्रव्यापी हड़ताल का पूर्ण समर्थन करते हुए समस्त साथियों से हड़ताल को सफल बनाने की अपील की है।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.