Home » Latest » थक गए क्या या हैं उनींदें? जानिए क्या है कैफीन और आपका मस्तिष्क का संबंध
illustration-products-caffeine-including-coffee-tea

थक गए क्या या हैं उनींदें? जानिए क्या है कैफीन और आपका मस्तिष्क का संबंध

Tired or Wired? Caffeine and Your Brain | Caffeine increases energy in Hindi

कुछ लोगों के लिए एक गर्म कप कॉफी या चाय सुबह का आकर्षण होता है। यह आपको जागृत और सतर्क महसूस करा सकता है। कैफीन वह रसायन है जो इन संवेदनाओं का कारण बनता है। लेकिन यक्ष प्रश्न है कि क्या कैफीन का मस्तिष्क पर अन्य प्रभाव पड़ता है?

कैफीन क्या होती है | What is caffeine

कैफीन प्राकृतिक रूप से चाय और कॉफी में पाया जाता है। लेकिन इसे एनर्जी ड्रिंक और कई तरह के सोडे में मिलाया जाता है। यहां तक कि इसे कुछ स्नैक फूड और दवाओं में भी डाला जाता है। अमेरिका में हर 10 में से प्रत्येक आठ वयस्क किसी न किसी रूप में कैफीन का सेवन करते हैं।

So how does caffeine wake you up?

तो कैफीन आपको कैसे जगाता है? आपका शरीर स्वाभाविक रूप से एडेनोसिन नामक एक रसायन का उत्पादन करता है। यह दिन के दौरान आपके शरीर में बनता है।

Caffeine in hindi (कैफीन) की जानकारी

एनआईएच के मस्तिष्क वैज्ञानिक डॉ. सेर्गी फेरे (Dr. Sergi Ferre, a brain scientist at NIH) बताते हैं, “दिन के अंत में आपको जो नींद आती है, वह एडेनोसिन है।” इसका बिल्डअप आपके मस्तिष्क को बताता है कि कब आराम करना है।

कैफीन एडेनोसिन को मस्तिष्क कोशिकाओं पर काम करने से अवरुद्ध करता है। यह आपको नींद महसूस करने से रोकता है।

फेरे कहते हैं यदि आप नियमित रूप से कैफीन का सेवन करते हैं, तो आपका शरीर अधिक एडेनोसिन का उत्पादन करता है। तो लोगों को समय के साथ और अधिक कैफीन की आवश्यकता होती है ताकि वह जागृत और तरोताजा महसूस करें।

फेरे कहते हैं, एडेनोसाइन कैफीन को अचानक छोड़ने को अप्रिय बनाता है। यदि आप कैफीन को हटा देते हैं, तो शरीर में अतिरिक्त एडेनोसिन थोड़ी देर के लिए वापसी की भावना पैदा कर सकता है। इनमें सिरदर्द और बढ़ी हुई नींद शामिल हैं।

कैफीन के फायदे और नुकसान | Advantages and disadvantages of caffeine

कैफीन मस्तिष्क में अन्य रसायनों के साथ भी क्रिया करता है। यदि आप सामान्य से अधिक का उपभोग करते हैं, तो इनमें से कुछ इंटरैक्शन ऐसे हैं जो आपको “अति-कैफीनयुक्त” महसूस कराते हैं। आपका दिल तेजी से धड़क सकता है, या आप पेट के लिए चिंतित या बीमार महसूस कर सकते हैं।

लेकिन कैफीन सभी को समान रूप से प्रभावित नहीं करता है। क्योंकि लोगों के शरीर इसे अलग गति से तोड़ सकते हैं। नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी में एक पोषण शोधकर्ता डॉ. मर्लिन कार्नेलिस बताती हैं, कि आपका शरीर कितनी तेजी से ऐसा करता है, यह काफी हद तक आपके जीन पर निर्भर करता है।

Experts recommend that some people avoid caffeine. विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि कुछ लोगों को कैफीन के सेवन से बचना चाहिए

जिनको कैफीन से बचने की सलाह दी जाती है उनमें एसिड रिफ्लक्स (acid reflux,) जैसी आंतों की परेशानी वाले लोग शामिल हैं, जिन लोगों को सोने में परेशानी होती है, और जिन लोगों को उच्च रक्तचाप या दिल की समस्या होती है। बच्चे, किशोर, और जो महिलाएं गर्भवती हैं या स्तनपान कराती हैं, उन्हें अक्सर कैफीन से दूर रहने की सलाह दी जाती है। यदि आप कैफीन और अपने स्वास्थ्य के बारे में चिंतित हैं तो अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से बात करें।

कैफीन का सेवन हानिकारक है | कैफीन के खतरे

फेरे बताते हैं “यहां तक कि स्वस्थ लोगों को शराब के साथ कैफीन मिलाने से बचना चाहिए” । वह बताते हैं “यह इसलिए है क्योंकि कैफीन शराब के अवसाद के प्रभाव को महसूस करने से मस्तिष्क को अवरुद्ध कर सकता है। यह किसी को सामान्य से अधिक पीने के लिए प्रेरित कर सकता है, जिससे उनकी हानि बढ़ जाती है।”

कार्नेलिस कहती हैं कि शोध बताते हैं कि कम मात्रा में स्वस्थ वयस्कों में कैफीन सबसे स्वस्थ वयस्कों के लिए हानिकारक है।

वह कहती हैं “जब आप कैफीन पीते हैं, तो आपका ध्यान अधिक से अधिक होता है, यह हमारे मस्तिष्क की जानकारी को बनाए रखने की क्षमता में योगदान देता है। इससे दीर्घकालिक संज्ञानात्मक कार्य में सुधार हो सकता है।”

Effects of caffeine on the brain

कार्नेलिस की टीम मस्तिष्क पर कैफीन के प्रभाव को मापने के लिए नए तरीके और जीन की भूमिका (जो आपके शरीर की प्रतिक्रिया देते हैं) का अध्ययन कर रही हैं।

कॉर्नेलिस कहती हैं, हालांकि एक दिन में बिना चीनी कॉफी या चाय के कुछ कप ज्यादातर लोगों के लिए ठीक हैं, कैफीन के कुछ स्रोतों में बहुत अधिक चीनी हो सकती है। वह कहती हैं कि शरीर या मस्तिष्क के लिए अतिरिक्त चीनी अच्छी नहीं है।

Stay Alert Without Caffeine | कैफीन के बिना अलर्ट रहें

पर्याप्त नींद लें (Get enough sleep) – ज्यादातर वयस्कों को आराम महसूस करने के लिए हर रात सात से आठ घंटे की नींद की आवश्यकता होती है।

नियमित रूप से खाएं (Eat regularly) – जब आप भोजन नहीं करते हैं, तो आपका रक्त शर्करा का स्तर गिर जाता है, जिससे आप थका हुआ महसूस करते हैं।

पर्याप्त पानी पियें (Drink enough water) – हाइड्रेटेड रहने से आप सतर्क रह सकते हैं।

(नोट – यह समाचार किसी भी हालत में चिकित्सकीय परामर्श नहीं है। यह समाचारों में उपलब्ध सामग्री के अध्ययन के आधार पर जागरूकता के उद्देश्य से तैयार की गई अव्यावसायिक रिपोर्ट मात्र है। आप इस समाचार के आधार पर कोई निर्णय कतई नहीं ले सकते। स्वयं डॉक्टर न बनें किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लें। जानकारी का स्रोत –एनआईएच)

Corona virus In India
Latest
Videos
अंतरिक्ष विज्ञान
आज़मगढ़
आपकी नज़र
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022
कानून
खेल
गैजेट्स
ग्लोबल वार्मिंग
चौथा खंभा
जलवायु परिवर्तन
जलवायु विज्ञान
झारखंड समाचार
तकनीक व विज्ञान
दुनिया
देश
पटना समाचार
पर्यटन
पर्यावरण
प्रकृति
बंगाल विधानसभा चुनाव
बजट 2020
बजट 2021
बिहार समाचार
भोपाल समाचार
मध्य प्रदेश समाचार
मनोरंजन
मुंबई समाचार
यूपी समाचार
राजनीति
राज्यों से
लखनऊ समाचार
लाइफ़ स्टाइल
वैज्ञानिक अनुसंधान
व्यापार व अर्थशास्त्र
शब्द
संसद सत्र
समाचार
सामान्य ज्ञान/ जानकारी
साहित्यिक कलरव
स्तंभ
स्वास्थ्य
हस्तक्षेप

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

दिनकर कपूर Dinkar Kapoor अध्यक्ष, वर्कर्स फ्रंट

सस्ती बिजली देने वाले सरकारी प्रोजेक्ट्स से थर्मल बैकिंग पर वर्कर्स फ्रंट ने जताई नाराजगी

प्रदेश सरकार की ऊर्जा नीति को बताया कारपोरेट हितैषी Workers Front expressed displeasure over thermal …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.