सुब्रमण्यम स्वामी हार्वर्ड से बाहर निकाला गया था ? जावेद अख्तर ने स्वामी को क्यों सुलगा दिया ?

Subramanian Swamy

जावेद अख्तर और सुब्रमण्यम स्वामी में ट्विटर वार

Twitter war in Javed Akhtar and Subramanian Swamy

नई दिल्ली, 14 मार्च 2020. कोरोनावायरस से संघर्ष करने के लिए भारत भले ही तैयार न हो, लेकिन ट्विटर पर एक अलग ही लड़ाई चल रही है। शनिवार सुबह को यह लड़ाई किसी और के बीच नहीं, बल्कि भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी और गीतकार जावेद अख्तर के बीच ट्विटर पर देखी गई।

स्वामी द्वारा 8 जून 2018 का एक लेख, जिसमें आस्ट्रिया में सात मस्जिदों को बंद करने और 60 इमामों को धक्के देकर निकालने की बात कही गई थी, साझा किए जाने के बाद जावेद अख्तर ने उस पर तीखी प्रतिक्रिया दी।

जावेद ने ट्वीट किया,

“जैसे कि आपको हार्वर्ड से बाहर निकाला गया था? आप इसी लायक हैं भी और मैं निश्चित हूं कि इमामों ने भी कुछ ऐसा ही किया होगा। आप सब एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हो।”

हालांकि भाजपा सांसद ने जो लेख साझा किया है, वह साल 2018 का है। यह लेख द वॉक्स में छपा था, जिसमें मस्जिदों को बंद किए जाने की खबर भी छपी थी।

 

पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें