Home » Latest » न्यूज़ चैनल द्वारा दारुल उलूम देवबन्द को कोरोना केंद्र बताए जाने पर उलेमा आग बबूला
Darul-Uloom, Deoband complaint

न्यूज़ चैनल द्वारा दारुल उलूम देवबन्द को कोरोना केंद्र बताए जाने पर उलेमा आग बबूला

Ulama fires when news channel calls Darul Uloom Deoband as Corona Center

दारुल उलूम ने दी चैनल के खिलाफ थाने में तहरीर

वक्फ दारुल उलूम करेगा मानहानि का दावा

देवबन्द। एक निजी टीवी न्यूज चैनल द्वारा दारुल उलूम और वक्फ दारुल उलूम (Darul Uloom and Waqf Darul Uloom) को कोरोना का केंद्र बताए जाने पर दोनों संस्थाओं के जिम्मेदारों ने कड़ा रोष जताया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दारुल उलूम देवबन्द के मोहतमिम ने उक्त इलैक्ट्रोनिक चैनल के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है, वही दारुल उलूम वक़्फ़ के मोहतमिम ने ग़लत खबर के लिए माफ़ी न मांगने पर चैनल के खिलाफ मानहानि के दावे की चेतावनी दी है।

सोमवार को कोतवाली में दी तहरीर में दारुल उलूम देवबन्द के मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम अंसारी नौमानी ने कहा कि एक न्यूज चैनल के ट्विटर हैंडल पर दारुल उलूम को कोरोना का हॉटस्पॉट बताते हुए अब तक दारुल उलूम में 47 लोगों के सक्रमण की फेक न्यूज चलाई गई है। यह खबर एक समुदाय के खिलाफ नफरत फैलाने वाली और समाज को तोडऩे वाली है। इससे देश भर में दारुल उलूम से मोहब्बत रखने वाले लोगों की भावनाएं आहत हुई है।

Darul-Uloom, Deoband complaint  अंसारी ने बताया कि लॉकडाउन के चलते वार्षिक परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थी। संस्था के अधिकांश छात्र अपने घरों को जा चुके है जबकि 1950 छात्र संस्था में है और यह सभी छात्र स्वास्थ्य विभाग की जांच में स्वस्थ पाए गए है।

वहीं, दारुल उलूम वक्फ के मोहतमिम मौलाना सुफियान कासमी ने भी उक्त चैनल पर चलाई गई खबर को तथ्यों के खिलाफ बताया है।

उन्होंने कहा कि चैनल द्वारा माफी न मांगे जाने पर मानहानि का दावा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि लॉक डाउन के चलते परीक्षाएं स्थगित होने के बाद संस्था के अधिकांश छात्र अपने घरों को जा चुके है। संस्था के छात्रावास में इस समय केवल 415 छात्र मौजूद है। जिनकी सूची प्रशासन के पास मौजूद है, और स्वास्थ्य विभाग उन सभी की जांच कर स्वस्थ होने का प्रमाण पत्र दे चुका है ऐसे में इस तरह की तथ्यहीन खबर चलाना सिर्फ़ दारूल उलूम देवबन्द की छवि को बदनाम करने की साजिश चैनल ने की है।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

shahnawaz alam

ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर सर्वे : मीडिया और न्यायपालिका के सांप्रदायिक हिस्से के गठजोड़ से देश का माहौल बिगाड़ने की हो रही है कोशिश

फव्वारे के टूटे हुए पत्थर को शिवलिंग बता कर अफवाह फैलायी जा रही है- शाहनवाज़ …