प्रियंका गांधी की पहल पर यूपी कांग्रेस ने शुरू की सांझी रसोई

UP Congress launches common kitchen on Priyanka Gandhi’s initiative

लखनऊ, 05 अप्रैल 2020 : प्रियंका गांधी की पहल पर कोरोना लाकडाउन के दौरान गरीबों तक खाना पहुंचाने के लिए यूपी कांग्रेस के दफ्तर में सांझा चूल्हे की शुरुआत की गई है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने अपने मुख्यालय से साझी रसोई घर की शुरुआत किया है। गौरतलब है कि प्रदेश के कई जिलों में भी कांग्रेस कार्यकर्ता और जिला कमेटियां साझी रसोईघर संचालित कर रहीं हैं।

कोरोना महामारी में कांग्रेस कार्यकर्ता लगातार लोगों की मदद कर रहे हैं। महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी के देख रेख में पूरे प्रदेश में राहत का काम कार्यकर्ता चला रहे हैं।

प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि पूरे प्रदेश में कांग्रेस कार्यकर्ता कोरोना महामारी में आम लोगों की सेवा कर रहे हैं। जगह जगह प्रशासन की मदद से लोगों तक राशन पहुंचाया जा रहा है। कई जिलों में साझी रसोई घर चलाया जा रहा है। आज से लखनऊ प्रदेश कार्यालय में भी एक रसोईघर संचालित किया जा रहा है ताकि कोई भूखा न सोए। आज इस विपदा की घड़ी में हम सबको एक दूसरे के साथ खड़े होने की जरूरत है।

प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि देश और प्रदेश एक विपत्ति से गुजर रहा है। वक्त की जरूरत है कि हम सब एकजूट होकर इसका सामना करें। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि हम हर जरूरत मंद की मदद कर सकें। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी हमेशा कहा करते थे कि मानव सेवा ही राजनीति है, आज जरूरत है कि सभी पार्टियां, सामाजिक संगठन और आम लोग इस बात पर अमल करें।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations