Home » Latest » अफगानिस्तान में तालिबान की सत्ता में वापसी और भारत के लिए उसके मायने

अफगानिस्तान में तालिबान की सत्ता में वापसी और भारत के लिए उसके मायने

भारत अफगानिस्तान संबंध,अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी,अफगानिस्तान का भविष्य,US Troops withdrawal from Afghanistan,u.s. troops in Afghanistan,2021 Taliban news,Nato Withdrawal from Afghanistan,India Afghanistan Relations,future of Afghanistan,Afghanistan war 1979,Asian countries News,Asian countries News in Hindi,Latest Asian countries News,Asian countries Headlines,बाकी एशिया,Samachar

 Return of Taliban to power in Afghanistan and it’s meaning for India

अफगानिस्तान में तालिबान की सत्ता में वापसी और भारत के लिए उसके मायने.

अफगानिस्तान से वापसी के मायने.

अफगानिस्तान का भविष्य: अमेरिकी सेना की वापसी के बाद क्या होगा? .

अफगानिस्तान से अमेरिका की वापसी का मतलब भारत के लिए.

तालिबान से निपटना : अफगानिस्तान में भारत की रणनीति क्या होगी?

कैसे अफगान शांति वार्ता भारत को प्रभावित करती है, प्रोफेसर जगदीश्वर चतुर्वेदी द्वारा समझाया गया.

जानिए अमरीका की अफगानिस्तान में हार का क्या मतलब है ?

जानिए, क्या सेना के बलबूते पर आतंकवाद कुचला जा सकता है ?

जानिए, अफगानिस्तान का सारी दुनिया के लिए क्या संदेश है ?

जानिए, क्या आतंकवाद को अमरीकी सेना के बल पर कुचला जा सकता है ?

समझने के लिए देखें ये वीडियो –

Video on Topics – भारत अफगानिस्तान संबंध, अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी, अफगानिस्तान का भविष्य, US Troops withdrawal from Afghanistan, u.s. troops in Afghanistan, 2021 Taliban news, Nato Withdrawal from Afghanistan, India Afghanistan Relations, future of Afghanistan, Afghanistan war 1979, Asian countries News, Asian countries News in Hindi, Latest Asian countries News, Asian countries Headlines, बाकी एशिया, Samachar.

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

badal saroj

कृषि कानूनों का निरस्तीकरण : गाँव बसने से पहले ही आ पहुँचे उठाईगीरे

क़ानून वापसी के साथ-साथ कानूनों की पुनर्वापसी की जाहिर उजागर मंशा किसानों ने हठ, अहंकार …

Leave a Reply