भारत में खेत मज़दूरों के संघर्षों पर केंद्रित वेबिनार 29 नवंबर को

भारत में खेत मज़दूरों के संघर्षों पर केंद्रित वेबिनार 29 नवंबर को

The webinar focused on the struggles of farm labourers in India on 29 November

नई दिल्ली, 27 नवंबर 2020. जोशी-अधिकारी इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल स्टडीज (जैस), दिल्ली द्वारा भारत में श्रमिक संघर्षों पर केंद्रित वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है। यह वेबिनार, छः वेबिनार श्रृंखला की छठवीं वेबिनार है। 29 नवम्बर 2020, रविवार को शाम 5 से 7:30 तक चलने वाली इस वेबिनार का विषय है- “खेत मजदूरों के हालात और संघर्ष

फेसबुक लाइव के पेज का लिंक यह है –

https://www.facebook.com/Joshi-Adhikari-Institute-of-Social-Studies-1634101010199082

खेतिहर मजदूरों के संघर्षों और समस्याओं पर केंद्रित यह छठवीं वेबिनार इसलिए भी महत्त्वपूर्ण है क्योंकि देश और दुनिया को अपनी मेहनत के पसीने से अनाज उपलब्ध करवाने वाले खेतिहर मजदूर जिनके श्रम को हमेशा से नजरअंदाज ही किया जाता है, इस वेबिनार के केन्द्र में हैं। खेतों में काम करने वालों के श्रम के इस योगदान और उनके संघर्षों को समझने के लिए इस वेबिनार की अपना महत्त्व है। खेतिहर मज़दूर अधिकांशतः दलित जातियों से आते हैं और उनमें भी महिला मज़दूरों की परेशानियां अनेक गुना ज़्यादा होती हैं। समान काम का कम वेतन मिलने से लेकर अनेक किस्म के शोषण का उन्हें सामना करना पड़ता है। वेबिनार में एक वक्तव्य ग्रामीण महिला मज़दूरों पर केंद्रित होगा।

इस वेबिनार में विशेष सत्र के तौर पर एटक की राष्ट्रीय महासचिव कॉमरेड अमरजीत कौर 26 नवंबर, 2020  को हुई आम हड़ताल के मंतव्यों, उद्देश्यों और अमल होने पर अपनी बात रखेंगी।

बिहार के खेत मज़दूरों के संघर्षों पर अखिल भारतीय खेतिहर और ग्रामीण मज़दूर सभा के राष्ट्रीय महासचिव कॉमरेड धीरेन्द्र झा तथा पंजाब के स्थानीय और प्रवासी खेत मज़दूरों पर भारतीय खेत मज़दूर यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव कॉमरेड गुलजार गोरिया स्थिति बयान करेंगे।

उत्तर प्रदेश की दलित महिला मज़दूरों के संघर्षों पर मज़दूर किसान मंच, उत्तर प्रदेश की राज्य नेत्री कॉमरेड सुनीला रावत जानकारी देंगी।

महाराष्ट्र में गन्ना उद्योग में संलग्न खेत मज़दूरों की समस्याओं पर भारतीय खेत मज़दूर यूनियन, महाराष्ट्र के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष कॉमरेड राजन क्षीरसागर एवं तमिलनाडु में कावेरी डेल्टा के ग्रामीण मज़दूरों पर एटक की राष्ट्रीय सचिव कॉमरेड वहीदा निज़ाम बात करेंगी।

आयोजकों ने अपील की है कि श्रमिकों की समस्याओं को समझने के लिए कृपया फेसबुक पेज पर जरूर जुड़िए तथा इसे अन्य लोगों से भी साझा करिए जिससे अधिकाधिक लोग देश का निर्माण करने वाले श्रमिकों पर आ रही समस्याओं और उनके संघर्षों को जान-समझ सकें। इस वेबिनार की योजना बनाई है अर्थशास्त्री डॉ. जया मेहता ने और संयोजन कर रहे हैं विनीत तिवारी,  विवेक मेहता और सारिका श्रीवास्तव।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner