हर सूरत में सत्ता, राजकाज का अंध समर्थन करना देशभक्ति है? जो बोल-लिख रहे हैं, वे सभी देशद्रोही हैं?

देश का मतलब क्या है? | What does the country mean?

देश का मतलब देश का इतिहास भूगोल, संस्कृति, लोकतन्त्र, स्वतंत्रता, सम्प्रभुता, संविधान और नागरिक मौलिक अधिकार से अलग कोई आध्यत्मिक अमूर्त चीज है क्या जिसका इस देश के नागरिकों, इसकी प्रकृति, पर्यावरण से कोई सम्बन्ध नहीं है क्या?

देश का मतलब सत्ता और राजकाज, राजनीति है?

देशप्रेम का मतलब सत्ता, राजकाज और राजनीति का अंध समर्थन है?

मतलब कि जो सत्ता, राजकाज, राजनीति का विरोध करें या आलोचना करें या समर्थन न करें, वे सारे लोग देशद्रोही हैं?

चाहे सत्ता जनता के हक़हकूक खत्म कर दें?

चाहे देश के संसाधन देशी विदेशी कम्पनियों के हवाले कर दे?

चाहे देश की आधारभूत संरचना को निजी हाथों में सौंप दें?

चाहे नागरिकता से लेकर श्रम कानून हर कायदा कानून खत्म करके किसानों, मजदूरों, आदिवासियों, दलितों, ग़रीबों, स्त्रियों, आम जनता के सारे हखक़ूक़ को खत्म कर दे?

चाहे रक्षा, प्रतिरक्षा, आंतरिक सुरक्षा और राष्ट्र की सुरक्षा विदेशी कम्पनियों के हवाले कर दें?

चाहे आम जनता का क्रूर दमन हो?

चाहे अर्थव्यवस्था ठप कर दे।

चाहे रोज़गार और आजीविका के सारे रास्ते बंद कर दे।

चाहे गरीबों के लिए शिक्षा चिकित्सा और बुनियादी सेवाओं और बुनियादी जरूरतों के हर रास्ते को बंद कर दे।

चाहे किसानों और मजदूरों के बाद बेरोजगार युवा भी आत्महत्या करें।

चाहे कारोबार खत्म कर दे।

चाहे छोटे और मंझोले उद्योग एकाधिकार देशी विदेशी कम्पनियों के हवाले कर दे।
चाहे नौकिरियाँ छीन ले।

चाहे संविधान के बदले मनुस्मृति लागू कर दे।

हर सूरत में सत्ता और राजनीति, राजकाज का अंध समर्थन करना, चुप रहना देशभक्ति है?

जो बोल रहे हैं, जो लिख रहे हैं, वे सभी लोग देशद्रोही हैं?

देश के 11 टॉप के बुद्धिजीवी वरवर राव, आनन्द तेलतुंबड़े, गौतम नवलखा, सुधा भारद्वाज समेत जेल में हैं।

अब विनोद दुआ और स्वरा भास्कर (Swara Bhaskar Vinod Dua) जैसे लोग निशाने पर हैं।

हम कब तक चुप रहेंगे?

पलाश विश्वास

What does the country mean?, देश का मतलब क्या है?, विनोद दुआ लेटेस्ट न्यूज़, Vinod Dua,Vinod dua की ताज़ा ख़बर, ब्रेकिंग न्यूज़ in Hindi, विनोद दुआ हिंदी न्यूज़, FIR against journalist Vinod Dua,स्वरा भास्कर,Swara Bhaskar Vinod Dua,

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations