Home » Latest » उप्र में जो घट रहा है वह मानवता के खिलाफ अपराध, चुनाव आयोग इसमें भागीदार : प्रियंका
Yogi Adityanath Priyanka Gandhi

उप्र में जो घट रहा है वह मानवता के खिलाफ अपराध, चुनाव आयोग इसमें भागीदार : प्रियंका

What is happening in UP is nothing less than a crime against humanity and the CEC is playing along.

लखनऊ, 01 मई 2021. कोरोना की दूसरी लहर देश भर में कहर बरपा रही है। उत्सवजीवी प्रचारजीवी सरकार मस्त है। उत्तर प्रदेश में भी स्थितियां बेकाबू हैं और सरकार की जिद से पंचायत चुनावों के दुष्परिणाम सामने आने लगे हैं। ऐसे में कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि उप्र में जो घट रहा है वह मानवता के खिलाफ अपराध से कम नहीं है और चुनाव आयोग इसमें भागीदार है।

प्रियंका गांधी का ट्वीट

प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया,

“उप्र में चुनाव ड्यूटी करने वाले लगभग 700 शिक्षकों की मृत्यु हो चुकी है। इसमें एक गर्भवती महिला भी शामिल है जिसे चुनाव ड्यूटी करने के लिए जबरन मजबूर किया गया।

कोरोना की दूसरी लहर की भयावहता के बारे में एक बार भी विचार किए बिना उप्र की लगभग 60,000 ग्राम पंचायतों में इन  चुनावों को कराया गया। बैठकें हुईं, चुनाव अभियान चला और अब ग्रामीण इलाकों में कोरोना का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। ग्रामीण इलाकों में लोगों की बड़ी संख्या में मृत्यु हो रही है जोकि झूठे सरकारी आंकड़ों से कहीं ज्यादा है।

पूरे उप्र के ग्रामीण इलाकों में लोगों की घरों में मृत्यु हो जा रही है और इनको कोविड से होने वाली मौतों के आंकड़ों में गिना भी नहीं जा रहा क्योंकि ग्रामीण इलाकों में टेस्ट ही नहीं हो रहे हैं।

सरकार का रुख सच दबाने की तरफ है और उसका अधिकतम प्रयास जनता व लोगों की दिन रात सेवा कर रहे मेडिकल समुदाय को भयभीत करने में रहा है।

उप्र में जो घट रहा है वह मानवता के खिलाफ अपराध से कम नहीं है और चुनाव आयोग इसमें भागीदार है।“

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

shahnawaz alam

अदालतों का राजनीतिक दुरुपयोग लोकतंत्र को कमज़ोर कर रहा है

Political abuse of courts is undermining democracy असलम भूरा केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.