इमरान के आलोचक पाकिस्तानी पत्रकार ने शबाना आजमी का वीडियो और पं. नेहरू की बहन का चित्र क्यों ट्वीट किया

रऊफ क्लासरा (Rauf Klasra) पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हैं

Why a Pakistani journalist criticizing Imran tweeted a video of Shabana Azmi and a picture of Pt. Nehru’s sister

नई दिल्ली, 19 दिसंबर 2019. रऊफ क्लासरा (Rauf Klasra) पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हैं, और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के आलोचक समझे जाते हैं। इमरान खान भी जब मौका मिलता है रऊफ क्लासरा पर तंज कसने से बाज नहीं आते हैं। भारत में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ हो रहे देशव्यापी आंदोलन के बीच क्लासरा ने बॉलीवुड अभिनेत्री शबाना आजमी का एक वीडियो ट्वीट को रिट्वीट करते हुए आधुनिक भारत के निर्माता पं. जवाहर लाल नेहरू की बहिन विजय लक्ष्मी पंडित का एक चित्र ट्वीट किया है।

शबाना आजमी ने सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शनकारियों के साथ एकजुटता में एक वीडियो संदेश ट्वीट किया था, जिसमें वह जावेद अख्तर का एक शेर पढ़कर कह रही हैं कि वह भारत से बाहर हैं इसलिए आंदोलन में शरीक नहीं हो पा रही हैं, लेकिन जो लोग प्रोटेस्ट कर रहे हैं, पूरी तरह से उनके साथ हैं। क्लासरा ने इसे रिट्वीट करते हुए एक तरह से शबाना को नसीहत दी है और विजय लक्ष्मी पंडित का एक चित्र ट्वीट करते हुए लिखा है,

“जब तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी ने 1975 में आपातकाल लगाया, तो विजया लक्ष्मी पंडित (पंडित नेहरू की बहन) भारत से बाहर थीं। जैसे ही उन्होंने यह ख़बर सुनीं उन्होंने तुरंत अपनी भतीजी के शासन और उसकी कठोर कार्रवाई का विरोध करने के लिए भारत की उड़ान भरी।“

शबाना ने अपने संदेश में कहा था,

“जो मुझको जला रहे हैं, वो बेख़बर हैं कि मेरी जंजीर धीरे-धीरे पिघल रही है

मैं कत्ल तो हो गया तुम्हारी गली में लेकिन, मेरे लहू से तुम्हारी दीवार गल रही है

मैं उम्मीद करती हूँ कि हमारी आवाज़ को दबाने के बजाय सरकार हमारी आवाज़ को सुनेगी। आज जो लोग प्रोटेस्ट कर रहे हैं, मैं पूरी तरह से आपके साथ हूँ।“

रऊफ क्लासरा (Rauf Klasra) पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हैं जिनका अपने विषय में कहना है कि “लोग हमसे उम्मीद करते हैं कि हम अन्यायपूर्ण और भ्रष्टाचारी का विरोध करेंगे। हम सफल हो सकते हैं या नहीं। लेकिन अगर हम प्रयास नहीं करते हैं, तो हम अपराधों में भागीदार हैं।“

पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें
 

Leave a Reply