Home » Latest » शीतकालीन ओलंपिक 2022: पर्यावरण के लिए नकली बर्फ बनेगी असली खतरा
winter

शीतकालीन ओलंपिक 2022: पर्यावरण के लिए नकली बर्फ बनेगी असली खतरा

Winter Olympics 2022: Fake snow will be a real threat to the environment

The Beijing Olympic Games in February are set to be the first Winter Games on virtually 100 per cent artificial snow

100% कृत्रिम बर्फ की मदद से होगा शीतकालीन ओलंपिक का आयोजन | Slippery Slopes’ report shows how climate change is threatening Winter Olympics 2022

फरवरी में बीजिंग ओलंपिक खेलों (Beijing Olympic Games) में कुछ अभूतपूर्व होगा। दरअसल ऐसा पहली बार होगा जब शीतकालीन ओलंपिक का आयोजन 100 प्रतिशत कृत्रिम बर्फ की मदद से होगा। और ऐसा संभव होगा 100 बर्फ जनरेटर मशीनों और 300 बर्फ बनाने वाली बंदूकों की मदद से।

लेकिन वैज्ञानिकों की मानें तो ऐसा करना पर्यावरण के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

वैज्ञानिकों का मानना है कि, शैमॉनिक्स में 1924 में हुए शीतकालीन खेलों के आयोजन के बाद से उपयोग किए जाने वाले 21 स्थानों में से केवल 10 में 2050 तक ऐसे किसी आयोजन की मेज़बानी के लिए ‘जलवायु उपयुक्तता’ और प्राकृतिक बर्फबारी का स्तर उपलब्ध होगा।

दरअसल, स्लिपिरी स्लोप्स: हाउ क्लाइमेट चेंज इज़ थ्रीटेनिंग द 2022 विंटर ओलंपिक्स, नाम की एक नई रिपोर्ट बताती है कि एथलीटों और प्रतिभागियों के लिए परिस्थितियों को और अधिक खतरनाक बनाकर जलवायु परिवर्तन शीतकालीन ओलंपिक और स्नो स्पोर्ट्स के भविष्य को खतरे में डाल रहा है।

इस रिपोर्ट में दुनिया के प्रमुख स्कीयर्स, स्नोबोर्डर्स और बोबस्लेडर्स से हमारे जलवायु के बदलते हुए स्नो स्पोर्ट्स के भविष्य के बारे में उनके डर को जानने का मौका भी मिलता है।

यह रिपोर्ट लॉफबोरो विश्वविद्यालय के स्पोर्ट इकोलॉजी ग्रुप और प्रोटेक्ट अवर विंटर्स द्वारा तैयार की गयी है।

4 फरवरी से शुरू होने वाले खेलों से पहले 2022 शीतकालीन ओलंपिक के स्की ढलानों को कवर करने के लिए 100 से अधिक स्नो जनरेटर (snow generator) और 300 बर्फ बनाने वाली बंदूकें (ice maker guns) अधिकतम प्रयास कर रही हैं। इस बर्फ के पिघलने की गति को धीमा करने के लिए अक्सर रसायनों का उपयोग किया जाता है, जो कि न केवल ऊर्जा और पानी-गहन गतिविधि है बल्कि यह एक ऐसी सतह भी प्रदान करता है जो, कई प्रतियोगियों के अनुसार, अप्रत्याशित और संभावित रूप से खतरनाक है।

स्कॉटिश फ़्रीस्टाइल स्कीयर लौरा डोनाल्डसन (Scottish freestyle skier Laura Donaldson) ने चेतावनी दी है कि यदि “खराब मौसम में बर्फ बनाने वाली मशीनों से फ़्रीस्टाइल सुपर पाइप बनते हैं, तो पाइप की दीवारें ठोस, ऊर्ध्वाधर बर्फ होती हैं और पाइप का फर्श ठोस बर्फ होता है। यह एथलीटों के लिए खतरनाक है और इससे कुछ की मौत भी हो चुकी है।”

दो बार के कनाडाई ओलंपियन और प्रमुख फ्रीस्टाइल स्कीयर फिलिप मार्क्विस (Two-time Canadian Olympian and leading freestyle skier, Philippe Marquis) हमें हाल के वर्षों में “बर्फ के निर्माण की बुनियादी संरचना और ग्लेशियरों के परिदृश्य में डरावने बदलाव” के बारे में बताते हैं। वह “बर्फ पर अभ्यास की कमी के कारण” चोटों में वृद्धि का विवरण देते हैं। वह बताते हैं कि कैसे “परिस्थितियां निश्चित रूप से पहले की तुलना में अधिक खतरनाक हैं” और एथलीटों की सुरक्षा के लिए उनकी चिंता की एक कड़ी चेतावनी जारी करते हैं।

2006-2018 से लगातार चार ओलंपिक में टीम GB (जीबी) स्नोबोर्डर ज़ोई गिलिंग्स-ब्रायर हमें बर्फ प्रभाव प्रशिक्षण कार्यक्रम की कमी के बारे में बताती हैं और कुछ एथलीटों के डर को रेखांकित करती हैं कि कृत्रिम बर्फ के उपयोग से अधिक चोट लग सकती है : “यदि आप गिरते हैं तो कृत्रिम बर्फ कम क्षमाशील है”, वह कहती हैं।

चेक बाइएथलीट जेसिका जिस्लोवा अस्थिर सर्दियों के मौसम की निरंतर प्रवृत्ति और साथ में बर्फ की स्थिति में गिरावट से चिंतित एक और प्रतियोगी है, जो इस पर ज़ोर देती हैं कि “अत्यधिक मौसम परिवर्तन एथलीटों के लिए खतरनाक हो सकते हैं।”

अनियमित हिमपात के मौसम में और तेजी से पिघलने के निम्न स्तर के रिसॉर्ट्स का सामना करना अब कई प्रतियोगियों के लिए आम है। जोखिम स्पष्ट है : मानव निर्मित वार्मिंग शीतकालीन खेलों के दीर्घकालिक भविष्य के लिए खतरा है।

रिपोर्ट के विवरण के अनुसार, यह शीतकालीन ओलंपियाड के लिए जलवायु के अनुकूल मेजबान स्थानों की संख्या को भी कम कर रहा है।

शीतकालीन ओलंपियाड जलवायु के लिए खतरा

वैज्ञानिकों का मानना है कि 2050 तक शैमॉनिक्स { Chamonix (शामोनि) } 1924 के बाद से शीतकालीन खेलों के लिए उपयोग किए जाने वाले 21 स्थानों में से केवल 10 में ही किसी आयोजन की मेजबानी के लिए ‘जलवायु उपयुक्तता’ और प्राकृतिक बर्फबारी का स्तर होगा। शैमॉनिक्स को अब नॉर्वे, फ्रांस और ऑस्ट्रिया के स्थानों के साथ ‘उच्च जोखिम’ का दर्जा दिया गया है, जबकि वैंकूवर, सोची और अमेरिका में स्क्वॉ वैली को ‘अविश्वसनीय’ माना जाता है।

लेस्ली मैककेना, स्नोबोर्ड हाफपाइप में तीन बार GB (जीबी) ओलंपियन (2002, 2006 और 2010 विंटर गेम्स), प्रोटेक्ट अवर विंटर्स यूके एंबेसडर कहती हैं, “मैंने सर्दियों में स्की रिसॉर्ट में स्नोपैक में भारी बदलाव देखा है और विशेष रूप से उन 30 वर्षों में ग्लेशियर कवर / स्थिति में और परिवर्तन कई स्तरों पर बेहद चिंताजनक हैं।”

“मैंने पिछले तीन दशकों को स्नो स्पोर्ट्स (snow sports) में संजोया है। लेकिन मुझे इस बात का बढ़ता डर सताता है कि हम अगले 30 वर्षों में कहां हो सकते हैं।”

Notes : “Slippery Slopes: How Climate Change is Threatening the Winter Olympics”, was produced by the Sport Ecology Group at Britain’s Loughborough University and the Protect Our Winters campaign group.

Laura Donaldson (born 12 January 1972) is a British freestyle skier. She competed in the women’s moguls event at the 2002 Winter Olympics.

Topics : Climate Change, environment, Winter Olympics 2022,

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

New front without Congress! Kapil Sibal Resigns.

कांग्रेस के बिना कपिल सिब्बल का नया मोर्चा! सिब्बल की सपा से क्या डील हुई?

New front without Congress! Kapil Sibal Resigns. क्या कपिल सिब्बल बनाएंगे बिना कांग्रेस भाजपा विरोधी …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.