बिल्किस बानो के बलात्कारियों की रिहाई के विरोध में महिलाओं का प्रदर्शन कल

बिल्किस बानो के बलात्कारियों की रिहाई के विरोध में महिलाओं का प्रदर्शन कल

भारतीय महिला फेडरेशन और शहर के अन्य संगठनों का विरोध प्रदर्शन एवं राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन

इंदौर (मध्य प्रदेश) 5 सितंबर 2022, सोमवार : बिल्किस बानो के बलात्कारियों की रिहाई के विरोध में महिला संगठनों भारतीय महिला फेडरेशन, इंदौर (मध्य प्रदेश), मध्य प्रदेश घरेलू कामकाजी ट्रेड यूनियन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता,  सहायिका एकता यूनियन, आशा-उषा कार्यकर्ता, सहायिका एकता यूनियन व ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन कल 6 सितंबर को प्रदर्शन करेंगे। महिलाओं ने एक विज्ञप्ति भेजी है, जिसका मजमून निम्न है –

“15 अगस्त 2022 को हमारी आज़ादी की 75वीं वर्षगाँठ पर जब प्रधानमंत्री महिलाओं के सशक्तिकरण और उनके अधिकारों की रक्षा के बारे में भाषण दे रहे थे, तब गुजरात राज्य द्वारा बिल्किस बानो के साथ हुए सामूहिक बलात्कार और उसके परिवारजनों के जघन्य नरसंहार के 11 अपराधियों को रिहा करने का निर्णय देश ही नहीं वरन समूची दुनिया को स्तब्ध कर देने वाला था।

इन 11 अपराधियों ने सन 2002 में गुजरात में बिल्किस बानो के परिवार के 14 सदस्यों की बेरहमी से हत्या की थी जिनमें उम्रदराज महिलाओं से लेकर तीन साल की नन्हीं बच्ची तक शामिल थी। यही नहीं, मानवता के नाम पर कलंक इन अपराधियों ने इस परिवार की महिलाओं के साथ सामूहिक बलात्कार भी किया था। अपराधियों को सजा दिलवाने और न्याय पाने के लिए बिल्किस बानो ने अनेक वर्षों तक संघर्ष किया और थाने से लेकर जिला कोर्ट, हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट तक गुहार लगाई थी। इनके अपराध इतने जघन्य पाए गए थे कि अदालत ने उन्हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।

स्तब्ध कर देने वाली इस खबर से बिल्किस बानो ही नहीं देश भर की महिलाएँ भयभीत एवं असुरक्षित महसूस कर रही हैं। इन बलात्कारियों एवं अपराधियों की रिहाई देश की महिलाओं का अपमान है।

हम इंदौर शहर की महिलाएँ एवं जागरूक नागरिक गुजरात सरकार के इस फैसले पर अफसोस और आक्रोश जाहिर करते हुए महामहिम राष्ट्रपति महोदया से मांग करते हैं कि इन बलात्कारी अपराधियों को वापस जेल भेजा जाए।

6 सितंबर 2022 को दोपहर 3 बजे गाँधी हॉल में एकत्र होकर 3:30 बजे जुलूस की शक्ल में कमिश्नर कार्यालय के लिए निकल कर इंदौर कमिश्नर को ज्ञापन दिया जाएगा। आप सभी से गुजारिश है कि महिलाओं के इस विरोध में शामिल होकर बलात्कार एवं हत्या के जघन्य अपराधियों को वापस जेल भेजने की माँग में अपनी एकजुटता दर्ज करवाएँ।

Women protest against the release of Bilkis Bano’s rapists

स्त्रीवादी नजरिए से स्त्री को कैसे देखें

Protest by Federation of Indian Women and other organizations of the city and memorandum to the President

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner