Home » Latest » वर्क फ्रॉम होम की जगह वर्क आउट फ्रॉम होम करें और स्वस्थ रहें : फ़िज़ियोथेरेपिस्ट डॉ. मुबारक 
गाजियाबाद के फिजियोथेरेपी एवं रिहैबिलिटेशन डिपार्टमेंट के फिजियोथैरेपिस्ट (Physiotherapist in Delhi/NCR,) डॉ मुबारक,

वर्क फ्रॉम होम की जगह वर्क आउट फ्रॉम होम करें और स्वस्थ रहें : फ़िज़ियोथेरेपिस्ट डॉ. मुबारक 

Work out from home instead of work from home and stay healthy: Physiotherapist Dr. Mubarak

नई दिल्ली, 07 अप्रैल 2020. विश्व स्वास्थ्य दिवस (World health day) के अवसर पर लॉक डाउन एवं वर्क फ्रॉम होम के दौरान यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, कौशांबी, गाजियाबाद के फिजियोथेरेपी एवं रिहैबिलिटेशन डिपार्टमेंट के फिजियोथैरेपिस्ट (Physiotherapist in Delhi/NCR,) डॉ मुबारक, डॉ आशीष जैन एवं डॉ अखिलेंद्र ने लोगों को शारीरिक समस्याओं से बचने एवं स्वस्थ शरीर के लिए अपने सुझाव दिए हैं।

The corona virus mainly attacks our respiratory system

डॉक्टर मुबारक ने कहा कि कोरोना वायरस मुख्यतः हमारे श्वसन तंत्र पर हमला करता है, ऐसे में यदि हम अपने फेफड़ों को मजबूत करने पर ध्यान दें तो लॉक डाउन में व्यायाम भी हो जाएगा और बीमारी से भी बचा जा सकता है।

उन्होंने कहा कि ज्यादातर लोग इस समय भयग्रस्त हैं, ऐसे में हमारी सांस लेने की दर एवं ले को भी एक्सरसाइज नियंत्रित करेंगी।

पहले व्यायाम के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि अपने नाक से सांस लेते हुए उसे धीरे-धीरे अपने मुंह से होठों को गोल करके जैसे मोमबत्ती बुझानी हो ऐसे धीरे-धीरे करके सांस छोड़ें।

दूसरे व्यायाम के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा की कुर्सी पर बैठ जाएं या सीधे खड़े रहें और अपने दोनों हाथों को छाती के सामने से ऊपर ले जाएं और वह पर ले जाते समय सांस को अंदर खींचे और अपने शरीर को ऊपर खींचने की कोशिश करें और धीरे-धीरे फिर सांस को छोड़ते हुए नीचे आए और इसको दुबारा करें।

पेट को अंदर खींचते हुए सांस को अंदर खींचें एवं सांस को छोड़ते हुए पेट को ढीला छोड़े, इस व्यायाम को धीरे-धीरे करना है।

यदि घर में गुब्बारा उपलब्ध हो तो उसे फुलाएं एवं उसकी हवा निकाल कर दुबारा उसको कई बार फुलाएं।

यह एक्सरसाइज पांच से दस मिनट के लिए दिन में तीन बार करें।

उन्होंने कहा कि लंबे समय तक घर में रहने और कार्य ना होने की वजह से हम ज्यादातर लेटे रहते हैं और आराम करते रहते हैं इस वजह से हमारी मांस पेशियां शिथिल भी पड़ सकती हैं और हमें अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं। ऐसे में बहुत छोटी-छोटी बातों का अगर हम ध्यान रखें तो हम अपने आप को स्वस्थ रख सकते हैं, ज्यादा देर तक लगातार टीवी देखते रहने से गर्दन में सर्वाइकल की प्रॉब्लम भी हो सकती है।

 पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें
अपने सिरको गर्दन से बायें एवं दाएं घुमाए ऊपर एवं नीचे घुमाएं,

अपने कंधों को 90 डिग्री तक ऊपर उठाएं, छोड़ते हुए नीचे आए और इसको दुबारा करें

अपने पैरों को पंजों के बल पर एवं एड़ियों के बल पर ऊपर नीचे उठाएं।

हर आधे घंटे बाद अपना पोस्चर चेंज कर लें और हो सके तो हम जहां बैठे हैं वहां से उठकर के एक घर में ही  छोटा सा चक्कर लगा लें।

यदि घर में स्किपिंग रोप हो तो उससे स्किपिंग करें

सामान्य स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करें

खुलकर हंसें

साथ ही उन्होंने कहा कि यदि कोई दिक्कत या परेशानी लगे तो फ़िज़ियोथेरेपिस्ट से उचित सलाह (Get proper advice from a physiotherapist in lockdown) लें।

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

उनके राम और अपने राम : राम के सच्चे भक्त, संघ के राम, राम की सनातन मूरत, श्रीराम का भव्य मंदिर, श्रीराम का भव्य मंदिर, अयोध्या, राम-मंदिर के लिए भूमि-पूजन, राममंदिर आंदोलन, राम की अनंत महिमा,

मर्यादा पुरुषोत्तम राम को तीसरा वनवास

Third exile to Maryada Purushottam Ram राम मंदिर का भूमि पूजन या हिंदू राष्ट्र का …