शब्द > पुस्तक अंश
भारतीय संस्कृति के नाम पर मनाए जाने वाले हिंसक ब्राह्मणवाद से संबंद्ध सभी त्योहारों का हो आमूल नाश
भारतीय संस्कृति के नाम पर मनाए जाने वाले हिंसक ब्राह्मणवाद से संबंद्ध सभी त्योहारों का हो आमूल नाश

महिषासुर आंदोलन का उद्देश्य शव-साधना नहीं है। यह आंदोलन हिंसा और छल के बूते खड़ी की गई असमानता पर आधारित संस्कृति के विरुद्ध है।

अतिथि लेखक
2018-05-26 23:20:53
कदमों के निशाँ  आजाद के आजाद साथी       
क्या डॉ आंबेडकर आदिवासी विरोधी थे क्या उन्होंने दलित अधिकारों की कीमत पर आदिवासी अधिकारों की अवहेलना की
क्या डॉ आंबेडकर आदिवासी विरोधी थे? क्या उन्होंने दलित अधिकारों की कीमत पर आदिवासी अधिकारों की अवहेलना की?

ये गंभीर इल्जाम किसी सामान्य बुद्धि के व्यक्ति ने नहीं, बल्कि देश के ख्याति प्राप्त चिंतकों ने लगाया है।

अतिथि लेखक
2018-03-03 18:41:11