शब्द > पुस्तक समीक्षा
नोटबंदी एक अक्षम्य अपराध
नोटबंदी एक अक्षम्य अपराध

2016 की नोटबंदी न सिर्फ एक संपूर्ण विफलता थी बल्कि इससे अर्थ-व्यवस्था पर आघात की भारी कीमत अदा करनी पड़ी है, लोगों पर इसका बुरा असर पड़ा है, इससे...

अरुण माहेश्वरी
2018-12-30 14:49:27
चार्वाक के वारिस  समाज संस्कृति और सियासत पर प्रश्नवाचक
चार्वाक के वारिस : समाज, संस्कृति और सियासत पर प्रश्नवाचक

इन्हीं सरोकारों को मददेनज़र रखते हुए चार्वाक के वारिस किताब लिखी गयी है, मगर उसका फोकस बहुत सीमित है।

हस्तक्षेप डेस्क
2018-12-26 21:44:42
प्रेम मनुष्य और ‘देवता’    नर-नारीश्वर   
प्रेम, मनुष्य और ‘देवता’  :  नर-नारीश्वर   

पेरुमल मुरुगन तमिल के सुप्रसिद्ध कवि, कहानीकार और उपन्यासकार हैं। समकालीन तमिल साहित्य में उनका स्थान बहुत ऊंचा है।

अतिथि लेखक
2018-12-02 19:35:40
यौन शुचिता के मिथकों को ध्वस्त करती है देह ही देश
यौन शुचिता के मिथकों को ध्वस्त करती है 'देह ही देश'

बलात्कार की घटनाओं पर वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर प्रसारित करना भीषण सामाजिक विकृति

हस्तक्षेप डेस्क
2018-11-19 22:01:59
वाराणसी  आजादी की लड़ाई का चमकता कम्युनिस्ट सितारा कामरेड रुस्तम सैटिन
वाराणसी : आजादी की लड़ाई का चमकता कम्युनिस्ट सितारा कामरेड रुस्तम सैटिन

एक बार छूटने के बाद उन्हें फिर गिरफ्तार कर लिया गया और लखनऊ के कैम्प जेल में रखा गया था जो टीन की चादरों वाले छत की जेल थी। इस जेल की गर्मी में अ...

वीरेन्द्र जैन
2018-10-07 16:18:33
हमारे समय का सच- रूममेट्स
हमारे समय का सच- रूममेट्स

सीत हार गई, लेकिन इससे क्या फर्क पड़ता है। वह झाँसी वाली भी तो हार गई थी, कुछ लड़ाइयो में लड़ने का हौसला जुटा पाना ही जीत होती है।

अतिथि लेखक
2018-09-20 22:03:38
सभी मोर्चों पर फेल मोदी सरकार कर रही ‘भारत की अवधारणा‘ पर चोट