हस्तक्षेप > आपकी नज़र
न्‍यूटन  भ्रष्ट तंत्र से जूझने की ईमानदारी
न्‍यूटन : भ्रष्ट तंत्र से जूझने की ईमानदारी

चुनाव को जनकवि बाबा नागार्जुन ने बहुत पहले ही एक प्रहसन कहा था। आज तो इसका स्वरूप और भी गंदा हो गया है। पर सत्ता चुनाव से ही होकर निकलती है।

अतिथि लेखक
2017-09-23 18:46:57
नफरत फैलाने वाली विचारधारा ने ही की गौरी लंकेश की हत्या
नफरत फैलाने वाली विचारधारा ने ही की गौरी लंकेश की हत्या

मुख्य मुद्दा यह है कि गौरी लंकेश हिन्दुत्ववादी राजनीति की विरोधी थीं और इस अर्थ में वे दाभोलकर, पंसारे और कलबुर्गी जैसे तार्किकतावादी विचारकों की...

राम पुनियानी
2017-09-22 21:09:09
रावण दहन  नाटक या अन्याय के खिलाफ मोर्चा फासीवाद आज नंगा नाच कर रहा है
रावण दहन : नाटक या अन्याय के खिलाफ मोर्चा? फासीवाद आज नंगा नाच कर रहा है...

रावण को प्रतीकात्मक तरीके से जलाने या कोई और धार्मिक अनुष्ठान से हम और खाई में जा रहे हैं। गड़बड़ तो है पर इसका इलाज वहां नहीं है जहाँ हम उसे ख़त्म ...

Gp Capt KK Singh
2017-09-22 20:41:42
बांग्लादेश में रवींद्र और शरत को पाठ्यक्रम से बाहर निकालने के इस्लामी राष्ट्रवाद खिलाफ आंदोलन तेज
बांग्लादेश में रवींद्र और शरत को पाठ्यक्रम से बाहर निकालने के इस्लामी राष्ट्रवाद खिलाफ आंदोलन तेज

शाहबाग आंदोलन के तहत ही बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के दौरान नरसंहार के युद्ध अपराधी रजाकर और जमात नेताओं को फांसी पर लटकाने का सिलसिला जारी है। मन...

पलाश विश्वास
2017-09-21 22:41:41
सामाजिक विषमता के खिलाफ मनुस्मृतिविरोधी लड़ाई को खत्म करना ही हिंदुत्ववादियों के हिंदू राष्ट्र का एजेंडा
सामाजिक विषमता के खिलाफ मनुस्मृतिविरोधी लड़ाई को खत्म करना ही हिंदुत्ववादियों के हिंदू राष्ट्र का एजेंडा

गंगा और नर्मदा की मुक्तधारा को अवरुद्ध करने वाली दैवीसत्ता का फासिज्म आदिवासियों और किसानों के खिलाफ मुक्तधारा के लिए जल सत्याग्रह इसीलिए जारी...

पलाश विश्वास
2017-09-21 16:17:44
हिटलर की आर्य-श्रेष्ठता की हुंकारों से कम अश्लील और खतरनाक नहीं ट्रंप की दहाड़
हिटलर की 'आर्य-श्रेष्ठता' की हुंकारों से कम अश्लील और खतरनाक नहीं ट्रंप की दहाड़

लगता है डोनाल्ड ट्रंप पर अभी भी चुनाव के वक़्त का भूत सवार है। वैसे भी उनके स्थान-काल बोध के बारे में सबको गहरे संदेह हैं,

अतिथि लेखक
2017-09-21 12:02:50
व्यावहारिक निर्देशिका पटकथा लेखन  एक जरूरी किताब
व्यावहारिक निर्देशिका पटकथा लेखन : एक जरूरी किताब

'जिसने लाहौर नहीं वेख्या वो जनम्या ही नहीं' जैसे विख्यात नाटक के रचनाकार असग़र वजाहत की 'व्यवहारिक निर्देशिका पटकथा लेखन' नये और उभरते हुए पटकथा ...

अतिथि लेखक
2017-09-20 22:50:14
अमित शाह के मुँह पर एसबीआई का करारा तमाचा
अमित शाह के मुँह पर एसबीआई का करारा तमाचा

एसबीआई रिसर्च ने कहा है कि सितंबर 2016 से अर्थव्यवस्था में सुस्ती है और यह तकनीकी नहीं बल्कि वास्तविक है।

जगदीश्वर चतुर्वेदी
2017-09-20 21:45:37
भाजपा की यह साम्प्रदायिक सरकार कश्मीरी पंडितों का मुद्दा सुलझाना ही नहीं चाहती
भाजपा की यह साम्प्रदायिक सरकार कश्मीरी पंडितों का मुद्दा सुलझाना ही नहीं चाहती !

कश्मीरी पंडितों की लड़कियों की शादियों में मिलिटेंट बंदूक लेकर पहरा देते थे ताकि पुलिस इन लोगों को परेशान ना करे। मोदी सरकार को कश्मीरी पंडितों को...

अतिथि लेखक
2017-09-20 16:04:31
जीएसटी की मार  व्यापारी उफ्फ़ तो कर रहे हैं मगर आह नहीं कर रहे
जीएसटी की मार : व्यापारी उफ्फ़ तो कर रहे हैं मगर आह नहीं कर रहे

जीएसटी सरल टैक्स नहीं है जैसा कि दावा किया जा रहा है। इसकी जटिलता जब व्यापारियों को समझ आएगी तब पता चलेगा। टैक्स वकीलों को भी एक घंटे की बजाए जीए...

अतिथि लेखक
2017-09-20 15:53:31
हिंदू राष्ट्र सिर्फ संघ परिवार का कार्यक्रम नहीं है
हिंदू राष्ट्र सिर्फ संघ परिवार का कार्यक्रम नहीं है

चैतन्य महाप्रभू के वैष्णव आंदोलन से लेकर ब्रहम समाज आंदोलन, नवजागरण और सूफी संत आंदोलन के खिलाफ हिंदुत्व का पुनरूत्थान एक अटूट सिलसिला है।

पलाश विश्वास
2017-09-19 17:17:03
भक्तगण कृपया लोड न लें आइए जानें "वैशाखनंदन" गधे को क्यों कहा जाता है
भक्तगण कृपया लोड न लें, आइए जानें "वैशाखनंदन" गधे को क्यों कहा जाता है

मृणाल पांडे ने अपने ट्वीट में जो कहा है उसकी निंदा हो रही है लेकिन आपको सोचना होगा कि क्या स्थिति इस कदर बिगड़ गयी है कि लब्ध प्रतिष्ठित साहित्यका...

अतिथि लेखक
2017-09-19 10:40:10
बुनियादी तौर पर स्वतंत्रता समानता और लोकतंत्र की विरोधी है संघी मानसिकता
बुनियादी तौर पर स्वतंत्रता, समानता और लोकतंत्र की विरोधी है संघी मानसिकता

संघी मानसिकता की बढ़ी ताकत ने भारतीय लोकतंत्र को खतरे में डाल दिया है

अतिथि लेखक
2017-09-19 10:18:13
हम भारतीय इस कदर भ्रष्ट क्यों हैं
हम भारतीय इस कदर भ्रष्ट क्यों हैं

भारत में भ्रष्टाचार का एक कल्चरल पहलू है। भारतीय भ्रष्टाचार में बिलकुल असहज नहीं होते, भ्रष्टाचार यहाँ बेहद व्यापक है। भारतीय भ्रष्ट व्यक्ति का व...

राजीव मित्तल
2017-09-19 09:59:20
अंधेर नगरी में सत्यानाश फौजदार का राजकाज रवींद्र प्रेमचंद के बाद निशाने पर भारतेंदु
अंधेर नगरी में सत्यानाश फौजदार का राजकाज! रवींद्र प्रेमचंद के बाद निशाने पर भारतेंदु?

क्या वैदिकी सभ्यता का प्रतीक न होने की वजह से अशोक चक्र को भी हटा देंगे?

पलाश विश्वास
2017-09-18 23:09:20
अनसोशल सोशल मीडिया  भड़ास निकालने का अड्डा
अनसोशल सोशल मीडिया : भड़ास निकालने का अड्डा

राजीव रंजन श्रीवास्तव
2017-09-18 22:28:02
समाज का प्रकृति एजेण्डा जगाती एक पुस्तक
रोहिंग्या को तो छोड़ो भारत में रहने वाले कुछ हिन्दुओं को निकाला तो कौन शरण देगा
रोहिंग्या को तो छोड़ो भारत में रहने वाले कुछ हिन्दुओं को निकाला तो कौन शरण देगा ?

क्या ऐसे लोगों के लिए एक नया देश बनाया जाए? वैसे ही जैसे यहूदियों के लिए इज़रायल बनाया गया था। परंतु दुःख की बात है कि यहूदियों ने अपना घर बसाने ...

एल.एस. हरदेनिया
2017-09-18 14:35:07