जानिए एएनए (एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी) परीक्षण क्या है?

जानिए एएनए (एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी) परीक्षण क्या है?

What is an ANA (antinuclear antibody) test? ANA Test – Diagnosing Systemic Rheumatic Disease (in Hindi)

इस समाचार में सरल हिंदी में जानिए कि एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी टेस्ट क्या है? या ANA टेस्ट क्या होता है ?  ANA टेस्ट क्यों करवाते हैं? एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी टेस्ट पॉजिटिव का मतलब हिंदी में क्या है (antinuclear antibody test positive means in Hindi) ? एनए टेस्ट पॉजिटिव लक्षण क्या हैं (ana test positive symptoms in Hindi)? एंटीबॉडी क्या होते हैं? एएनए परीक्षण क्यों कराया जाता है? एएनए टेस्ट की जरूरत कब होती है? एएनए टेस्ट के दौरान क्या होता है और क्या तैयारी करनी होती है? एएनए टेस्ट के पॉजिटिव आने का मतलब क्या होता है? इस समाचार की जानकारी का उपयोग पेशेवर चिकित्सा देखभाल या सलाह के विकल्प के रूप में नहीं किया जा सकता है। यदि आप अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो अपने स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता/ योग्य चिकित्सक से संपर्क करें।

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के मेडलाइनप्लस पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक एएनए (एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी) परीक्षण आपके रक्त में एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी की तलाश करता है। यदि एएनए टेस्ट में आपके रक्त में एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी का पता लगता है, तो इसका अर्थ यह हो सकता है कि आपको कोई ऑटोइम्यून विकार (autoimmune disorder ) है। ऑटोइम्यून डिसऑर्डर के कारण आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली गलती से आपकी अपनी कोशिकाओं, ऊतकों और/या अंगों पर हमला कर देती है। ये विकार गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकते हैं।

एंटीबॉडी क्या हैं? What are Antibodies in Hindi?

एंटीबॉडी एक प्रोटीन होते हैं जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) को वायरस और बैक्टीरिया जैसे बाह्य पदार्थों से लड़ने के लिए बनाती है। लेकिन एक एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी इसके बजाय आपकी अपनी स्वस्थ कोशिकाओं पर हमला करती है। इसे “एंटीन्यूक्लियर” कहा जाता है क्योंकि यह कोशिकाओं के केंद्रक (केंद्र) को लक्षित करता है।

दूसरे नाम: एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी पैनल, फ्लोरोसेंट एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी, FANA, ANA

एएनए परीक्षण किसलिए प्रयोग किया जाता है? What is ANA test used for?

ऑटोइम्यून विकारों के निदान में मदद के लिए एक एएनए परीक्षण का उपयोग किया जाता है, जिसमें शामिल हैं:

  • सिस्टमिक ल्यूपस एरिथेमेटोसस (एसएलई) {Systemic lupus erythematosus (SLE)} : यह ल्यूपस का सबसे आम प्रकार है, जो जोड़ों, रक्त वाहिकाओं, गुर्दे और मस्तिष्क सहित शरीर के कई हिस्सों को प्रभावित करने वाली एक पुरानी बीमारी है।
  • रुमेटीइड गठिया (Rheumatoid arthritis) : रुमेटीइड अर्थराइटिस एक ऐसी स्थिति जो जोड़ों में दर्द और सूजन का कारण बनती है, ज्यादातर हाथों और पैरों में।
  • स्क्लेरोडर्मा (Scleroderma) : स्क्लेरोडर्मा त्वचा, जोड़ों और रक्त वाहिकाओं को प्रभावित करने वाली एक दुर्लभ बीमारी है।
  • स्जोग्रेन सिंड्रोम (Sjogren’s syndrome) : स्जोग्रेन सिंड्रोम शरीर की नमी बनाने वाली ग्रंथियों को प्रभावित करने वाली एक दुर्लभ बीमारी।

आपको एएनए टेस्ट की आवश्यकता क्यों है? Why do you need an ANA test?

यदि आपके पास ल्यूपस या किसी अन्य ऑटोइम्यून विकार के लक्षण हैं, तो आपका स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता एएनए परीक्षण का आदेश दे सकता है। इन लक्षणों में शामिल हैं :

  • बुखार (Fever)
  • लाल, तितली के आकार के दाने (ल्यूपस का एक लक्षण) {Red, butterfly-shaped rash (a symptom of lupus)}
  • थकान (Fatigue)
  • जोड़ों का दर्द और सूजन (Joint pain and swelling)
  • मांसपेशियों में दर्द (Muscle pain)

ANA परीक्षण के दौरान क्या होता है? What happens during an ANA test?

एक स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर एक छोटी सुई का उपयोग करके आपकी बांह की नस से रक्त का नमूना लेगा। सुई डालने के बाद, टेस्ट ट्यूब या शीशी में थोड़ी मात्रा में रक्त एकत्र किया जाएगा। सुई अंदर या बाहर जाने पर आपको थोड़ी सी चुभन हो सकती है। इसमें आमतौर पर पांच मिनट से भी कम समय लगता है।

क्या आपको ANA परीक्षण की तैयारी के लिए कुछ करने की आवश्यकता होती है?

एएनए परीक्षण के लिए आपको किसी विशेष तैयारी की आवश्यकता नहीं है।

क्या एएनए परीक्षण के कोई जोखिम हैं? Are there any risks to the ANA test?

रक्त परीक्षण होने का जोखिम बहुत कम होता है। जहां सुई लगाई गई थी, वहां आपको हल्का दर्द या चोट लग सकती है, लेकिन ज्यादातर लक्षण जल्दी दूर हो जाते हैं।

एएनए टेस्ट के परिणामों का क्या अर्थ है? What do the ANA test results mean?

एएनए टेस्ट के पॉजिटिव आने के अर्थ है कि आपके खून में एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी पाए गए थे। एएनए टेस्ट के पॉजिटिव आने का संकेत हो सकता है कि –

  • आपको एसएलई (ल्यूपस) है।
  • आपको एक अलग प्रकार की ऑटोइम्यून बीमारी है।
  • आपको वायरल संक्रमण है।

एएनए टेस्ट के पॉजिटिव आने का मतलब यह नहीं है कि आपको कोई बीमारी है। कुछ स्वस्थ लोगों के रक्त में एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी होते हैं। इसके अलावा, कुछ दवाएं आपके परिणामों को प्रभावित कर सकती हैं। उम्र के साथ एंटीन्यूक्लियर एंटीबॉडी का स्तर बढ़ता जाता है। 65 वर्ष से अधिक आयु के एक तिहाई स्वस्थ वयस्कों का ANA परीक्षण परिणाम पॉजिटिव हो सकता है।

यदि आपके एएनए परीक्षण के परिणाम सकारात्मक हैं, तो आपका स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता अधिक टेस्ट्स का आदेश देगा, खासकर यदि आपको बीमारी के लक्षण हैं। यदि टेस्ट रिजल्ट के बारे में आपके कोई प्रश्न हैं, तो अपने स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता या योग्य चिकित्सक से बात करें।

( नोट – यह समाचार किसी भी हालत में चिकित्सकीय परामर्श नहीं है। यह समाचारों में उपलब्ध सामग्री के अध्ययन के आधार पर जागरूकता के उद्देश्य से तैयार की गई अव्यावसायिक रिपोर्ट मात्र है। आप इस समाचार के आधार पर कोई निर्णय कतई नहीं ले सकते। स्वयं डॉक्टर न बनें किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लें।) 

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner